कभी कभी अनजाने या लापरवाही से शरीर का कोई हिस्सा जल जाये तो उसके लिए तुरंत अस्पताल जाना सम्भव नहीं होता है | ऐसे में अगर जले हुए हिस्से का तुरंत उपचार नहीं किया जाये तो यह दर्द तो देता ही है साथ ही आगे चलकर इसके और भी नुकसान हो सकते है | इसलिए समय से कुछ घरेलू उपायों से आप जलने का प्राथमिक उपचार कर सकते है (First aid treatment for burn in Hindi) |

जल जाने पर क्या करे | First aid for Burn-in Hindi

जलने से हमारे नर्व एडिंग्स और त्वचा के विशिस्ट रिसेप्टर को नुकसान पहुँचता है | जिसकी वजह से दर्द होने लगता है | जलने पर जले हुए स्थान को सबसे पहले दवा लगाने के बजाय ठन्डे पानी में डुबो देना चाहिए उससे इतनी देर तक डूबोके रखना चाहिए जब तक की जलन शांत ना हो जाये | जलन समाप्त होने पर ही उस जले हुए अंग  को बाहर निकला चाहिए | इस उपाय से जलने में तुरंत राहत मिलती है और साथ ही साथ इससे जलन का निशान भी नहीं पड़ता है | जिस अंग को पानी में डुबाया नहीं जा सकता हो उस पर ठन्डे पानी में भीगा कपडा रखना चाहिए | और थोड़ी थोड़ी देर में पानी को भिगोते रहना चाहिए | इससे वहां की त्वचा का तापमान काम होता और उस जगह घाव भी नहीं बनता है या हल्का बनता है |

कभी ही जले स्थान पर कम्बल या कोई कपडा नहीं लपेटना चाहिए | इससे तापमान बढ़ता है और घाव गहरा हो जाता है |

जल जाने पर घरेलू उपाय | First Aid Treatment For Burn in Hindi 

साथ ही कुछ उपाय और है जिनसे जले हुए में लाभ मिलता है |

Burn In Hindi

हरड़

हरड़ को जलाकर और बारीक पीसकर वैसलीन में मिला लें | और इसे जले हुए स्थान पर लगाए | इससे जलन कम होती है और घाव जल्दी भरने लगते है |

आम

आम के पत्तो को जलाकर इसकी राख को जले हुए स्थान पर डालें | इससे तेजी से लाभ होता है |

ये भी पढ़ें : आम के फायदे

सरसों का तेल

जले हुए अंग पर सरसों के तेल को लगाने से वहां पर फफोले नहीं होते है |

तिल

तिलों को पानी में चटनी की तरह पीसकर जले हुए स्थान पर मोटा लेप करें |  इससे तेजी से लाभ होता है |

Burn In Hindi

शक्कर

जले हुए स्थान पर राहत पाने के लिए आप शक्कर को पानी में घोलकर उसका लेप अपने जले हुए स्थान पर करें | घोल गाढ़ा बनाना है इससे आपकी जलन बिलकुल खत्म हो जाती है |

ये भी पढ़ें : हानिकारक चीनी को छोड़े, मिठास के लिए आजमाएं ये 5 सेहतमंद चीजें

चाय

किसी भी अंग के झुलसने या जलने पर चाय का प्रयोग भी लाभकारी है | इसके लिए चाय की पत्ती को पानी में उबाल लें | और फिर इस पानी को ठंडा करके उसमे साफ़ कपडा भिगो लें | और उस कपडे को अपने जले स्थान पर रखे | इस कपडे को बार बार बदलते रहे | इससे फफोले नहीं पड़ते और  जलने के निशान भी नहीं रहते |

ये भी पढ़ें : चाय करेगी फायदा लेकिन बनाने का तरीका जान लें

ग्वार पाठा

ग्वार पाठे के जुड़े को जले हुए स्थान पर लगाने से जलन भी कम होती है और जले हुए के निशान भी नहीं पड़ते है |

कच्चा आलू

जले हुए स्थान पर आलू लगाने से जलन कम होती है और निशान नहीं पड़ता | इसके अलावा तेज धुप और लू से त्वचा झुलस गयी है ऐसे में कच्चे आलू का रस झुलसी त्वचा पर लगाने से भी त्वचा ठीक हो जाती है |

Burn In Hindi

शहद

जले हुए स्थान पर शहद लगाने से जलन कम होती है | अगर जलने से घाव हो गया है तो घाव पर जब तक शहद लगाते रहे जब तक की घाव ठीक ना हो जाये | अगर  जलने के निशान पड़ गए है तो ऐसे में इन घावों पर शहद लगाकर पट्टी बांध लें | शहद के फायदे दाग मिटाने में भी लाभकारी है |

तुलसी

जले हुए  तुलसी के रस को नारियल के तेल में मिलाकर लगाने से जलन दूर होती है और फफोले भी नहीं पड़ते है साथ ही घाव भी जल्दी ठीक हो जाते है | तुलसी के फायदे बहुत अधिक है इसलिए तुलसी का पौधा हिंदुओ के हर घर में पाया जाता है |

हम उम्मीद करते है की आज की जल जाने पर क्या करे (First Aid Treatment For Burn in Hindi) |  यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here