डेंगू के लक्षण और डेंगू बुखार के उपचार के असरदार उपाय | Dengue Symptoms and Treatment in Hindi

0
321

डेंगू (DENG-gey) बुखार एक मच्छर जनित बीमारी है जो दुनिया के उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाता है। हल्का बुखार व तेज बुखार, शरीर पर दाने तथा मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द यह सब डेंगू के लक्षण (dengue ke lakshan) होते है । ज्यादा गंभीर होने पर यह मृत्यु का कारण बन सकता है। आज के इस लेख में हम जानेंगे डेंगू के लक्षण ( dengue ke lakshan ) डेंगू के इलाज ( dengue ka ilaj in hindi ) में असरदार घरेलू नुस्खों के बारे में |

लाखों मामले डेंगू बीमारी में के दुनिया भर में होते हैं। लेकिन डेंगू बुखार दक्षिण पूर्व एशिया और पश्चिमी प्रशांत द्वीपों में सबसे आम बीमारी है। लेकिन अब लैटिन अमेरिका और कैरिबियन में यह बीमारी तेजी से बढ़ रही है।

हर साल भारत में जितनी मौतें कैंसर से नहीं होती उससे ज्यादा जान मच्छर के काटने से होती है | हर साल डेंगू की वजह से होने वाली मौतों की संख्या बढ़ती ही जा रही है | हर तरह से इन्हे रोकने के प्रयास किये जा रहे है लेकिन वे नाकाफी साबित हो रहे है | अभी तक इसकी रोकथाम के लिए कोई दवा भी बाजार में नहीं आयी है | लेकिन डेंगू के घरेलू उपचार और कुछ आयुर्वेदिक उपचार बहुत ही लाभदायक है

dengue ke lakshan

विषय सूची

डेंगू के लक्षण ( Dengue ke Lakshan) | Dengue Symptoms in Hindi

अगर आपको अचानक से बिना खांसी और जुकाम के तेज बुखार , शरीर में तेज दर्द होने लगे तो ये डेंगू होने के लक्षण है | डेंगू होने पर बुखार के साथ साथ हड्डियों में भी तेज बुखार होने लगता है इसलिए इसे हड्डी तोड़ बुखार भी कहते है | इसके अलावा और भी कई लक्षण डेंगू होने पर दिखाई देने लगते है जैसे की सर में दर्द होना , मांसपेशियों और जोड़ो में दर्द, भूख कम लगना , खसरे जैसे दाने छाती पर निकल आन |

इसके अलावा उलटी और मितली आना भी डेंगू के लक्षण है | कई लोगों, विशेष रूप से बच्चों और किशोर, को डेंगू के लक्षण के हल्के अनुभव हो सकता है। मच्छर द्वारा काटेने के चार से सात दिन बाद डेंगू के लक्षण (dengue ke lakshan) दिखना शुरू होते हैं।

डेंगू बुखार में 104 एफ डिग्री तेज बुखार होता है। डेंगू के निम्न लक्षणों में से कम से कम दो:

  1. सरदर्द (Headache)
  2. मांसपेशियों, हड्डी और जोड़ों में दर्द ( Muscle, bone and joint pain)
  3. जी मिचलाना ( Nausea)
  4. उल्टी (Vomiting)
  5. आँखों के पीछे दर्द (Pain behind the eyes)
  6. सूजन ग्रंथियां (Swollen glands)

सरदर्द। Headache

डेंगू होने का प्रमुख लक्षण सरदर्द है। डेंगू में आप को असमय सरदर्द हो सकता है। डेंगू में होने वाला सरदर्द दो से चार दिन तक होता रहता है। यह सरदर्द आमने साथ बुखार व चिड़चिड़ापन लाता है।

मांसपेशियों, हड्डी, और जोड़ों में दर्द। Muscle, Bone, and Joint Pain

पैरों और जोड़ों में दर्दनाक दर्द (myalgias और arthralgias- गंभीर दर्द जो इसे निक-ब्रेक ब्रेक-बोन बुखार या बोनक्रशर रोग देता है) डेंगू का प्रमुख लक्षण है जो बीमारी के पहले घंटों के दौरान होता है।

जी मिचलाना। Nausea

डेंगू होने पर खाना खाने की इच्छा कम होजाती है तथा कुछ भी खाने पर अच्छा नहीं लगता जिसे जी मिचलाना कहते है। 

उल्टी। Vomiting

खाना खाने की इच्छा न करना और खा लिया खाना तो उल्टी के रुप में निकलना जाना, डेंगू के लक्षणों में सबसे अनोखा है। क्यों की यह आम तोर पर सबको नहीं होता है। इस का कारण यह है की शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा नहीं मिलती है। 

आँखों के पीछे दर्द। Pain Behind The Eyes

डेंगू के लक्षण में यह लक्षण उन्ही में  दीखता है जिनकी प्लाटरेट्स पचास हजार से कम हो जाती है। शरीर में प्लाटरेट्स कम होने पर आँखो के पीछे दर्द होने लगता है। 

ग्रंथियों में सुजन। Swollen Glands

डेंगू से सूजन अंगों, त्वचा, या शरीर के अन्य भागों में बढ़ती है। यह शरीर में तरल पदार्थ के निर्माण के कारण होता है। यह पूरे शरीर में सूजन हो सकती है (सामान्यीकृत) या केवल शरीर के एक हिस्से में (स्थानीयकृत)।

ये भी पढ़ें : स्वाइन फ्लू के लक्षण और बचने के उपाय

डेंगू क्या है ? What is Dengue in Hindi ?

डेंगू विषाणु से ग्रसित मादा एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैलता है |हेमोरेजिक डेंगू  सबसे अधिक खतरनाक होता है | हेमोरेजी डेंगू होने पर हीमोरेजिक यानि की रक्तस्त्राव के भी लक्षण दिखाई देते है | इसमें डेंगू के विषाणु शरीर के अंदर जाने पर शरीर के अंदरूनी अंगो में रक्तस्त्राव भी होने लगता है |

यह रक्त आपके मुंह, नाक या मल के रास्ते शरीर से बाहर आने लगता है | ऐसे में कई बार मरीज बेहोशी की हालत में भी चला जाता है | इसके अलावा आपके पेट में लगातार दर्द रहने लगता है , आपकी त्वचा पिली और चिपचपी हो जाती है | चेहरे और हाथ और पैर  पर लाल दाने दिखाई देने लगते है | सबसे अधिक मौत हेमोरेजिक डेंगू होने की वजह से होती है |

ये भी पढ़ें : मच्छर मारने का सबसे आसान तरीका |

डेंगू मच्छर कब काटता है ? | Dengue Machar Kab Katta Hai ?

डेंगू मादा एजिप्टाई मच्छर के काटने से होता है | डेंगू मच्छर ( dengue machar ) अक्सर दिन में काटता है | लेकिन अगर रात में भी अच्छी रौशनी हो तो ये रात में भी काट सकता है | साथ ही डेंगू के मच्छर के बारे में ये कहा जाता है की यह ज्यादा उड़ नहीं पाता इसलिये ये घुटने से निचे ही काटता है |

लेकिन यह बात बिलकुल गलत है | डेंगू का मच्छर आपको शरीर के किसी भी खुले भर में काट सकता है | डेंगू सबसे अधिक बरसात के मौसम के बाद फैलते है क्युकी इस वक्त इनके जीवन के अनुकूल परिस्थितियां होती है जिससे इनकी संख्या तेजी से बढ़ती है |

अक्सर ये देखा गया है की दवाओं की बजाय घरेलू नुस्खे डेंगू की बीमारी में अधिक प्रभावकारी सिद्ध होते है | ऐसे ही कुछ डेंगू का इलाज (dengue ka ilaj) आज हम आपको बताने जा रहे है जिन्हे जानकर आप भी डेंगू के प्रभावों से बच सकते है |

डेंगू के लक्षण

डेंगू का आयुर्वेदिक इलाज है गिलोय | Dengue Treatment in Hindi

यदि आप को डेंगू के लक्षण दिखे तो आप को इसका आयुर्वेदिक इजाज करना चाहिए। आज सबसे पहले हम जानेगें डेंगू का आयुर्वेदिक उपचार गिलोय से (dengue ke ayurvedik upchar giloy se )हम बताने जा रहे है वो है गिलोय का रस | डॉक्टर्स भी मानते है की गिलोय का रस डेंगू की बीमारी में बेहद लाभदायक होता है | यह मेटाबोलिक रेट को बढ़ाता है |

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और बॉडी को इन्फ़ेक्सन से बचाता है | इसके लिए गिलोय के तने को पानी में उबालकर उस पानी का सेवन करें | अधिक फायदे के लिए आप उसमे तुलसी के पत्ते भी डाल सकते है |

ये भी पढ़ें : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

डेंगू के उपचार में करें मेथी के पत्तों का सेवन | Fenugreek Leaves Dengue Fever Treatment in Hindi at Home

डेंगू के उपचार में मेथी के पत्ते (dengue ka upchar me methi ke patte ) बहुत ही लाभकारी होते है| मेथी के पत्ते डेंगू के बुखार को कम करने में बेहद फायदेमंद है | मेथी के फायदे ये होंगे की मरीज का दर्द भी कम होगा है और उसे आसानी से नींद आती है | इसके अलावा मेथी पावडर को पानी में मिलाकर भी पी सकते है |

अगले अगले उपाय के रूप में आप तुलसी के पत्तों और कालीमिर्च को पानी में उबालकर पी सकते है | यह भी आपकी इम्युनिटी पवार बढाती है और एंटी बक्ट्रियल  प्रॉपर्टी के रूप में काम करती है |

dengue ka ilaj


डेंगू बुखार के घरेलू उपचार है बकरी का दूध | Goat’s Milk Dengue Fever Treatment in Hindi at Home

इसके अलावा बकरी के दूध से डेंगू बुखार का घरेलू उपचार( bakri ke dudh se dengue ka gharelu upchar) में बेहद फायदेमंद होता है | अगर मरीज में डेंगू के लक्षण दिखाई दें तो उसे बकरी का दूध देना शुरू कर । डेंगू की वजह से कम हुए ब्लड प्लेटरेट्स को बकरी का दूध तेजी से बढ़ाता है |

 बकरी अधिकतर जंगल में औषधीय पत्तियों को अपना आहार बनाती है इसकी वजह से इसके दूध में कई औषधीय गुण पाए जाते है | इसमें फोलिक एसिड नामक विटामिन पाया जाता है जो की हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है | इसके अलावा यह गाय और भैस के दूध की तुलना में जलती पचता है जिससे की इसके सभी पोषक तत्व शरीर में जल्दी ऑब्जर्व हो पाते है |

लेकिन डेंगू से बचाव ही इसका सबसे अच्छा इलाज है इसके लिए अपने आस पास मच्छरों को पनपने ना दें | और डेंगू होने पर घरेलू नुस्खों के साथ साथ डॉक्टर की सलाह भी जरूर ले और  उचित इलाज करवाए |

ये भी पढ़ें : दूध के साथ गुड़ खाने के फायदे

पपीता के पत्ते डेंगू में। Papaya Leaves in Dengue in Hindi

पपीता के पत्ते स्वास्थ्यप्रद फलों में से एक के रूप में माना जाता है, पपीता कई बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है। इसकी पत्तियां प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने के लिए अच्छी मानी जाती हैं । यह मलेरिया-रोधी गुणों से भी समृद्ध होती हैं, जिससे यह डेंगू बुखार और अन्य बीमारियों से लड़ने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है। आजकल पपीते के पत्ते का उपयोग कई विदेशी कम्पनी भी अपनी दवाए बनाने में कर रही है। 

नारियल पानी। Coconut Water in Hindi for Dengue 

निर्जलीकरण से बचने के लिए डेंगू में नारियल पानी पीने की सलाह दी जाती है। यह आपके शरीर को पोषण देता है और आपको हाइड्रेटेड रखता है। डेंगू के लक्षण दिखने पर आप एक दिन में दो गिलास नारियल पानी तक पी सकते हैं। नारियल पानी एक स्वस्थ पेय है जिसे आप नियमित रूप से पी सकते हैं।

तुलसी के पत्तों। Basil Leaves in Hindi for Dengue

तुलसी के पत्ते चमत्कारी जड़ी-बूटियाँ हैं जो न केवल डेंगू बुखार के दौरान मदद करती हैं बल्कि आपकी संपूर्ण रोग प्रतिरक्षा में भी सुधार करती हैं। 5-6 तुलसी के पत्तों को चबाने से आपकी प्रतिरक्षा बढ़ जाती है और डेंगू बुखार के लिए एक प्रभावी आयुर्वेदिक उपचार के रूप में सबसे अच्छा मानी गई है।

मेथी दाना। Fenugreek seeds

मेथी के बीज डेंगू बुखार को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। एक ग्लॉस गर्म पानी में कुछ मेथी के दाने भिगोए हैं। इस गर्म को पानी को ठंडा होने दे और इसे दिन में दो बार पियें। मेथी का पानी आपको डेंगू के बुखार से स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करेगा क्योंकि यह विटामिन सी, के और फाइबर से भरपूर है। मेथी का पानी बुखार को कम करेगा और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देगा।

हल्दी वाला दूध। Turmeric Milk

डेंगू के लक्षण दिखने पर दूध में एक चुटकी हल्दी और अदरक का रस मिलाकर पिएं। हल्दी से डेंगू के रोगाणु से लड़ने की शक्ति मिलती है। अदरक में कुछ ऐसे तत्व होते है जो डेंगू के रोगियों के स्वास्थ केलिए अच्छे होते है। इस लिए हल्दी वाला दूध डेंगू में अच्छा इलाज होता है।

पनीर से डेंगू से राहत। Paneer Relieving Dengue.

पनीर शरीरी को तुरंत राहत देने के लिए जाना जाता है। पनीर में पोटेशियम, प्रोटीन ,और वसा जोटा है। यदि डॉक्टर आप को सलाह दे तो यह डेंगू से लड़ने में आपकी सहायता कर सकता है। पनीर के फायदे डेंगू में बहुत अधिक है। यह डेंगू से हुई कमजोरी को कम करता है।  

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ। Immunity Boost Food  

एक मजबूत इम्मुनिटी आपको डेंगू को रोकने में मदद करती है और डेंगू बुखार से जल्दी ठीक होने में भी मदद करती है। मजबूत इम्युनिटी भी डेंगू के शुरुआती लक्षणों का इलाज करने में मदद मिलती है। आपको अपने आहार में इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए जैसे कि खट्टे खाद्य पदार्थ, लहसुन, बादाम, हल्दी, पनीर, और  कई और अधिक।

डेंगू से जुड़े प्रशन उत्तर। Dengue Related Questions Answer

Q. डेंगू बुखार का पहला संकेत क्या है?

Answer. डेंगू बुखार के लक्षणों में गंभीर जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, सूजन, सिरदर्द, बुखार, थकावट और दाने शामिल हैं।

Q. डेंगू से उबरने में कितना समय लगता है?

Answer. डेंगू बुखार के मरीज आमतौर पर 10-15 दिनों में पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं।

Q. क्या घर पर डेंगू ठीक हो सकता है?

Answer. हाँ, यदि घर पर सही इलाज किया जाए तो डेंगू ठीक हो सकता है।

Q. क्या डेंगू के लक्षण में खांसी और ठंड लगना है?

Answer. हाँ, डेंगू के लक्षणो में ठंडी लगना और खासी होना आम बात है। 

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास डेंगू के लक्षण और इलाज (dengue ke lakshan or ilaj) और डेंगू बुखार के उपचार से सबंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here