हर्निया एक  ऐसी बीमारी है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है | महिलाओं की  तुलना में हर्निया का खतरा पुरुषों में अधिक होता है | हर्निया के कारन आज बड़ी संख्या में लोग परेशान है | लेकिन हर्निया होने पर अगर सही समय पर इलाज लिया जाये तो हर्निया की बीमारी से जल्द छुटकारा पाया जा सकता है | आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगें की हर्निया क्या होता है इसके लक्षण कारण और उपचार के बारे में | 

हर्निया क्या है | Hernia in Hindi

इस बीमारी में शरीर की मांसपेशिया मांसपेशिया कमजोर होकर बाहर आने लगता है जो की किसी सूजन की तरह दिखाई देता है | यह शरीर के निचले हिस्सों जैसे जांघ, पेट और कमर के आसपास मुख्य तौर पर दिखाई देता है | अधिकांश मामलों में पेट में हर्निया की दिक्कत सामने आती है | हर्निया की समस्या उन लोगो के सामने अधिक आती है जिन्हे की लम्बे समय से कब्ज या पेशाब करने में दिक्कत आ रही हो | या फिर जिन्हे लम्बे समय से खांसी की दिक्कत है उन्हें भी हर्निया की परेशानी होती है | 

हर्निया के लक्षण | Hernia Symptoms in Hindi

कुछ ऐसे लक्षण होते है जिनके द्वारा   ये जाना जा सकता है की आपको हर्निया की समस्या है | आइये जानते है कोनसे है वे लक्षण –

  •  अगर आपको कोई भारी सामान उठाने पर दर्द होता है तो यह हर्निया के लक्षण है | 
  • आपको अगर पेट के निचले हिस्से में सूजन दिखाई दे | 
  • यदि आपके लेटने पर पेट की सूजन कम हो जाये | 
  • मांसपेशी के उत्तक के फटने से शरीर के उस अंग में दर्द होने लगता है | 
  • स्लाइडिंग हर्निया में पेट में जलन दर्, मिचली आना , और पेट में एसिड बनने की वजह से मुँह में खट्टी खट्टी डकार आना | 

हर्निया के कारण | Hernia Causes in Hindi

बहुत से मामलों में हर्निया की समस्या जन्म के समय से हो जाती है | इसके अलावा यह बीमारी उम्र बढ़ने के साथ भी हो सकती है | ऐसे में पेट की मांसपेशिया पेट की कमजोर परतो से उभार लेती हुई दिखाई देती है | इसके अलावा और भी बहुत से कारण होते है जिनकी वजह से हर्निया की समस्या हो सकती है | आइये जानते है उन कारणों के बारे में | 

  • लम्बे समय से खांसी होने के कारण 
  • अगर कोई सर्जरी या ऑपरेशन हुआ है तो उसकी वजह से | 
  • अगर शरीर में कब्ज की समस्या है और मल त्यागने में जोर लगाने पर | 
  • मोटापा बढ़ने से |
  • अधिक वजन उठाने से 

हर्निया का इलाज | Hernia Treatment in Hindi

हर्निया की बीमारी के लिए आपको अपनी जीवनशैली और खानपान में विशेष ध्यान रखना होता है | हर्निया  की बीमारी में भोजन हल्का करना चाहिए | अधिक भारी और तेल वसा युक्त भोजन से परहेज करना चाहिए | हर्निया की बीमारी में आपकी मांसपेशिया कमजोर हो जाती है | इसलिए अपनी मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए आप कुछ एक्सेरसाइज कर सकते है | लेकिन गलत व्यायाम से आपकी हर्निया की समस्या घटने के बजाय बढ़ भी सकती है | इसलिए आप डॉक्टर से सलाह के बाद ही कोई व्यायाम करे | 

बहुत सी बीमारियों में घरलू उपाय से बीमारी को ठीक किया जा सकता है | लेकिन हर्निया की बीमारी में तो इसकी सर्जरी करवाना ही इसका सही इलाज है | हर्निया की बीमारी में 2 तरह की सर्जरी की जाती है | 

  1. ओपन सर्जरी 
  2. लेप्रोस्कोपिक सर्जरी 

हर्निया की ओपन सर्जरी के बाद  मरीज को ठीक होने और सामान्य रूप से चलने फिरने में 6 महीने तक का समय लग सकता है | दूसरी और लेप्रोस्कोपिक सर्जरी में एक छोटा चीरा लगाकर मांसपेशियों के उत्तको को नुकसान पहुँचाये बिना सर्जरी की जाती है | 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here