जरा रुकिए | बिना सोचे समझे कुछ भी खाने पीने की आदत आपकी जिंदगी को खतरे में डाल सकती है | संतुलित और पोस्टिक भोजन जहां आपको पोषण और ऊर्जा देता है, वही आपके खाने में शामिल कुछ चीजे बीमारियों को बुलावा देती है, इन चीजों के  खाने से शरीर पर होने वाले प्रभावों को अगर आप जानेंगे, तो आपकी आँखे खुल की खुली रह जाएगी |

आज के समय में लोगो का खानपान और रहन सहन तेजी से बदला है | हमारे खाने में जाने अनजाने में वे चीजे शामिल हो गयी है जो की हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है | अपने स्वाद की वजह से हम कुछ भी उल्टा सीधा , मसालेदार , फैट्स बढ़ने वाला और कई बार तो शरीर को गंभीर नुकसान पहुंचाने वाला खाना खा लेते है | लगातार इन चीजों के खाने से ये हमारी आदतों में शामिल हो जाते है और कुछ ही सालो में आप गंभीर बिमारिओ की गिरफ्त में आ जाते है | त्वचा पर पिम्पल , इन्फेक्शन , वजन बढ़ना , शरीर में ब्लड प्रेशर , कोलेस्ट्रॉल, शुगर जोड़ो और किडनी जैसी बीमारिया केवल इन्ही गलत खान पान की चीजों के खाने से होती है |

इसलिए आज हम आपको उन 10 चीजों के बारे बताएंगे जो की आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है और जिनका आपको कम से कम सेवन करना चाहिए |

चाय कॉफी होती है स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

इस लिस्ट में पहले नंबर पर है चाय और कॉफी | चाय और कॉफी हमारी सेहत के लिए बहुत हानिकारक होती है | और यह हमारे शरीर के लिए और भी नुकसानदायक तब होती है जब इसका खाली पेट सेवन किया जाये | दिन भर हम कुछ न कुछ खाते रहते है लेकिन रात का समय ऐसा होता है जब हमारा पेट अधिक समय के लिए खाली रहता है ऐसे में रात के समय हमारे पेट में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है |

पुराने समय से ही और घर के बड़े बुजुर्गो द्वारा यह सलाह दी जाती है की सुबह उठते ही 2 गिलास पानी पीना चाहिए यह हमारे पेट के उन एसिड को शांत करता है जो हमारे पेट में गर्मी करते है | लेकिन आजकल लोगो में सुबह उठते ही चाय पिने की गलत आदत पड़ी हुई है जिसकी वजह से पेट में एसिड की मात्रा दुगुनी रफ़्तार से बढ़ जाती है| ऐसे में हायपर एसिडिटी, कब्ज, अपचन, त्वचा का कालापन, और बाल झड़ने जैसी समस्याएँ  समय के साथ साथ शुरू हो जाती है |

चाय में कैफीन की मात्रा अधिक होने की वजह से धीरे धीरे इसकी आदत पड़ जाती है | फिर चाहे दिन का समय हो या रात का खाली पेट चाय पीना सीधे अपने पेट को जलाने जैसा होता है | चाय पिने से हमारे शरीर को किसी भी तरह का लाभ नहीं होता है | और जब इसमें चीनी मिला दी जाती है तब इसके हमारे शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव 10 गुना बढ़ जाते है | खाली पेट चाय और कॉफी पिने से शरीर में हड्डियों से लेकर त्वचा सम्बन्धी रोग होने का खतरा बढ़ जाता है इसलिए कभी भी खाली पेट चाय और कॉफी नहीं पीनी चाहिए |

बासी चावल खाना है हानिकारक

इस  लिस्ट में दूसरी चीज है  चावल | चावल अगर दिन के समय में गरम गरम खाये जाये तो इससे हमें कोई भी नुक्सान नहीं होता है | लेकिन अक्सर लोगो की आदत होती है रात के बचे हुए चावल अगले दिन खाने की | रात के बचे हुए  चावल जितना हमें लगता है उससे कही ज्यादा हानिकारक हो सकते है | क्युकी चावल पकने के बाद जब ठन्डे हो जाते है, तो इनमे बसेलियस सरियस जीवाणु फैलने लगता है |

जितनी देर तक चावल सामान्य तापमान में रखे रहते है, उतनी देर में यह जीवाणु पूरी तरह चावल पर फैलकर उसे दूषित कर देता है | और उन पर टोक्सिन यानि की एक विषैला पदार्थ फैला देता है | फिर चाहे चावल को कितनी भी देर के लिए गरम किया जाये | यह विषैला पदार्थ चावल से बाहर नहीं निकलता और इस तरह के चावल को खाने से फ़ूड पोइज़निंग होने के बहुत अधिक चांस होते है |

फ़ूड पॉइजनिंग में उलटी दस्त के साथ साथ पेट दर्द की समस्या के साथ साथ शरीर में ताकत की कमी भी महसूस होती है | इसलिए इस प्रॉब्लम से बचने के लिए कोशिस करें की चावल गरम गरम ही खाएं | और अगर आप ठन्डे चावल दुबारा इस्तेमाल करना चाहते है तो उन्हें पकने के बाद पूरी तरह से ठंडा होने से पहले ही फ्रिज के अंदर टाइट ढक्कन के डब्बे या बर्तन में ही डालकर रखे | लेकिन ऐसा सिर्फ घर में बने चावल के साथ ही करें | बाजार में बने चावल या इससे बनी डिशेज का किसी भी सूरत में इस्तेमाल ना करें |

ये भी पढ़ें : बाल लंबे करने के तरीके में फायदेमंद चावल का पानी

कोल्ड ड्रिंक कर देती है समय से पहले बूढ़ा

इसके अलावा सोडा या कोल्ड ड्रिंक हमारे शरीर के लिए बहुत खतरनाक होती है | क्युकी इनके अंदर जरुरत से ज्यादा शुगर और हानिकारक केमिकल पाए जाते है | पोषक तत्वों के नजरिये से अगर देखा जाये तो इनके अंदर 1  भी चीज ऐसी नहीं होती है जो हमारे शरीर को फायदा पहुंचाए | सभी जानते है की कोल्ड ड्रिंक पिने से मोटापा और चर्बी बहुत तेजी से बढ़ती है | लेकिन इससे बढ़ने वाले मोटापे की खास बात ये है की यह शरीर में अनचाही जगहों पर ज्यादा इकठ्ठा होता है |

हाल ही में की गयी 1 स्टडी के अनुसार यह पता चला है की जो लोग ज्यादा कोल्ड ड्रिंक पीते  है वह कोल्डड्रींक में पायी जाने वाली फास्फोरिक एसिड की वजह से उम्र से पहले ही बूढ़े हो जाते है | और दिखने में भी अपनी उम्र से 5 से 8 साल बड़े दीखते है | इसलिए कोल्ड ड्रिंक पिने के नुक्सान देखते हुए इसे पिने से बचें |

अधिक आचार का सेवन कर सकता है आपको बीमार

रोजाना खाये जाने वाले भोजन के साथ चटनी आचार या नमकीन होने पर खाने का स्वाद और अधिक बढ़ जाता है | लेकिन इसमें आचार ऐसी चीज है जिसका सेवन संतुलित मात्रा में करना बहुत जरुरी होता है | क्युकी वैसे तो आचार हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन करने पर यह हमारे शरीर के लिए बहुत घातक भी सिद्ध हो सकता है | ज्यादातर आचार बनाने में बहुत सारे मसाले, तेल और सिरके का इस्तेमाल होता है |  

तेज मसाले और नमक की वजह से इसमें सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है जो की सीधे हमारे

ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को बहुत तेजी से बढाती है | चूँकि यह स्वाद में बहुत अधिक खट्टा होता है, इसलिए ज्यादा आचार खाने वाले लोगो को अक्सर बंद नाक, गले का दर्द, त्वचा पर तरह तरह की एलर्जी और गांठे बनने के साथ साथ ह्यपर एसिडिटी और शरीर में सूजन आने की भी प्रॉब्लम हो सकती है | इसलिए आचार कभी कभी ही खाना चाहिए | और 1 बार में बहुत ज्यादा आचार का सेवन कभी नहीं करना चाहिए |

सोयाबीन के तेल को तुरंत रसोई से करें आउट

हर तरह का भोजन या पकवान बनाने में तेल  सबसे मुख्य चीज होती है, ऐसे में सवाल उठता है की कोनसा तेल हमारी त्वचा के लिए अच्छा है और कोनसा हानिकारक | अगर तेल की बात की जाये तो सोयाबीन का तेल  हमारे स्वास्थ्य के लिए सबसे हानिकारक होता है | क्युकी यह हमारे पाचन तंत्र के बिलकुल भी अनुकूल नहीं है | और इसके अंदर फाइटोस्ट्रोजन की मात्रा बहुत अधिक होती है |

सोयाबीन का तेल या सोयाबीन से बनी चीजों का ज्यादा इस्तेमाल करने से शरीर में फायटोस्टोजन की मात्रा तेजी से बढ़ जाती है | जो की पुरुषो और महिलाओ दोनों के ही शरीर के हार्मोन्स पर भयंकर रूप से बुरा प्रभाव डालती है | हार्मोन्स में गड़बड़ी आने पर थाइराइड से लेकर गुप्त रोग और महिलाओ के रिप्रोडक्टिव सिस्टम से जुडी हुई कई तरह की बीमारी होने के बहुत अधिक चांस होते है | इसलिए खाना बनाने  के लिए सोयाबीन ऑइल की जगह तेल सरसो , नारियल या एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑइल का ही इस्तेमाल करें |

अंडा बढ़ाता है शरीर में कोलेस्ट्रॉल

जब भी सेहत बनाने या सेहतमंद रहने की बात आती है, तब सबसे पहले अंडे खाने की सलाह दी जाती है|  एक ऐसा व्यक्ति जो रोजाना कसरत यानि की वर्क आउट करता हो ,या जिसकी जिंदगी से बहुत अधिक मेहनत करने वाले कार्य जुड़े हुए हो |  ऐसे ही लोगो को अंडे खाने से नुकसान नहीं होता है | हालांकि अंडे खाने के फायदे है | लेकिन पूरा अंडा खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल बहुत तेजी से बढ़ता है | जो लोग रोजाना अंडे खाते है, उनके शरीर में अंडे ना खाने वाले लोगो की तुलना में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है | और हाई कोलेस्ट्रॉल हमारे हार्ट के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक होता है |

इसके अलावा कई लोग अंडो को कच्चा ही खा जाते है  | दूध अंडा मांस इस तरह की चीजे जो की हमें किसी जानवर के जरिये मिलती हो उन्हें खाने से पहले पकाना बहुत जरुरी होता है | क्युकी इस तरह की चीजों को कच्चा खाने से सालमोनेला पॉइजनिंग होने के बहुत अधिक चांस होते है | जिसमे उलटी दस्त होने के साथ साथ भयंकर रूप से पेट ख़राब और अहसहनीय पेट दर्द होने का खतरा रहता है | इसलिए अंडो को कच्चा कभी ना खाये | और पकाकर खाने  से पहले यह निश्चित जरूर कर ले की अंडे अच्छे क़्वालिटी के ही हो |

पॉपकॉर्न भी है स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

इनके अलावा पॉप कॉर्न जल्दी से बन जाने वाली ऐसी चीज है जिसके हलके वजन होने के कारन अक्सर लोगो को लगता है की यह हमारी सेहत के लिए बिलकुल भी हानिकारक नहीं हो सकते |  लेकिन घर में बनाये हुए पॉपकॉर्न को छोड़कर बाजार में मिलने वाले हर तरह के पॉपकॉर्न चाहे वो बने बनाये हो या फिर पैकेट में आने वाले रेडी टू कुक पॉपकॉर्न हो ये हमारी सेहत के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक होते है |

पॉपकॉर्न के अंदर नमक चीनी तेल और आर्टिफिसियल कलर की मात्रा बहुत अधिक होती है | जो हमारे शरीर में बहुत अधिक चर्बी पैदा कर देती है |  बहुत अधिक पॉपकॉर्न खाने से ह्रदय सम्बन्धी रोग होने के भी चांस होते है | इसलिए कोशिश करें की बाहर मिलने वाले पॉपकॉर्न कम से कम खाएं |

आर्टिफिशयल कलर से बनी चीजों से कई तरह की बीमारी होने का खतरा

हमें उन चीजों का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए जिनमे आर्टिफिसियल कलर्स का उपयोग किया गया हो | इनसे हमारे शरीर को गंभीर नुकसान होते है| दिखने में बेहद आकर्षक और सुन्दर दिखने वाली चीजे पेट में जाकर शरीर पर बहुत बुरा असर दिखाती है | आज के समय में आइसक्रीम केक पेकिंग में मिलने वाले जूस और कोल्ड ड्रिंक्स आदि में बहुत मात्रा में आर्टिफिसियल कलर्स का इस्तेमाल किया जाता है | इन आर्टिफिसियल कलर को बनाने में कई तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है | अलग अलग कलर को अलग अलग केमिकल से तैयार किया जाता है |

ये अलग अलग आर्टिफिसियल कलर हमारे शरीर पर भी अलग अलग प्रभाव दिखाते है | लाल रंग डाई जहां हमारे खून को अशुद्ध करता है वही  नीला कलर का डाई हमारे दिमाग पर बुरा असर डालता है | हरा कलर का डाई हमारे मूत्राशय के लिए हानिकारक होता है और पीला कलर का डाई हमारे सूंघने की शक्ति को कमजोर करता है और अस्थमा की परेशानी को बढ़ाता है | साथ ही इनका ज्यादा बुरा असर बच्चो की सेहत पर होता है इसलिए बच्चो को ऐसी चीजे ना खिलाये जिनमे आर्टिफिसियल कलर मिले हो |

आज जितनी भी चीजे हमने  बताई है, वो चीजे आज के समय में हमारे खानपान की आदतों में शामिल हो चुकी है, लेकिन इन चीजों को अपने खान पान से कम करें और धीरे धीरे इन चीजों का सेवन  बंद कर दे | अगर आप ऐसा करते है तो आप कई गंभीर बीमारियों से अपने को बचा पाएंगे, और एक लम्बी और सेहतमंद लाइफ जी पाएंगे |

ये भी पढ़ें : भोजन में शामिल होगी ये चीजे तो कभी नहीं होंगे बीमार

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here