शरीर को स्वस्थ  रहने के लिए आपके ब्लड का बॉडी में सही तरह सर्कुलेट होना बहुत जरुरी है | जिसे की हम ब्लड प्रेशर कहते है | इस ब्लड प्रेशर का अधिक और कम होना दोनों ही स्थितियां आपके लिए हानिकारक होती है | चक्कर आना, कमजोरी, मितली आना, आँखों के आगे अँधेरा छा जाना ये सभी निम्न रक्तचाप यानि की लो बीपी के लक्षण होते है | शरीर में लो बीपी के लक्षण ( low bp ke lakshan ) के दिखाई देने पर कुछ आसान और असरदार घरेलू उपचार करके हम लो बीपी का इलाज (low bp ka desi ilaj) कर सकते है |

लो ब्लड प्रेशर को हाइपर टेंसन भी कहा जाता है | सामान्य अवस्था में हमारा ब्लडप्रेशर 120 / 80 माना जाता है | इसमें थोड़ा ऊपर निचे होने से कोई अधिक फर्क नहीं पड़ता लेकिन अगर ब्लड प्रेशर 90/ मिमी एचजी से कम रहता है तो इस स्थिति को लो ब्लड प्रेशर कहा जाता है | लो ब्लड प्रेशर होने पर हमारे शरीर में रक्त की बहने की गति कम हो जाती है जिसके कारन हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगो जैसे की हार्ट, किडनी, ब्रेन,लिवर हाथ, पांव तक जरुरी ऑक्सीजन और न्यूट्रियंट नहीं पहुंच पाते है | जिनकी वजह से वो सही तरह से काम नहीं कर पाते है |

लो बीपी के लक्षण ( निम्न रक्तचाप के लक्षण )| Bp Low Symptoms in Hindi

हमारा शरीर किसी भी बीमारी या कोई समस्या होने पर उसके संकेत देने लगता है, और हमारे शरीर में उस बीमारी से सबंधित लक्षण दिखाई देने लगता है| शरीर में लो बीपी होने के लक्षण दिखाई देने लगते है | तो आइये जानते है उन लक्षणों के बारे में –

  1. चक्कर आना
  2. शरीर में कमजोरी
  3. सर में दर्द
  4. हार्ट बीट बढ़ना
  5. अधिक पसीना आना
  6. सांस की तकलीफ
  7. धुंधला दिखना
  8. अधिक प्यास लगना
  9. कमजोरी आना

ये सभी लो बीपी के लक्षण है| और इनको समझकर आप इसका सही समय पर इलाज और घरेलू नुस्खों से इस समस्या को दूर कर सकते है|

ये भी पढ़ें : उच्च रक्तचाप के लिए घरेलू उपचार

लो बीपी के कारण | Bp Low Hone ke Karan

अक्सर लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं होते और आज के समय में लोगों का रहन सहन का तरीका भी काफी बदल चूका है जिनके कारन ब्लड प्रेशर हाई और लो बना रहता है | आइये जानते है शरीर में लो ब्लड प्रेशर होने के के कारण |

  1. शरीर में खून की कमी
  2. हार्ट से जुडी परेशानी
  3. विटामिन और फोलेट 12 की कमी से
  4. शरीर में पानी की कमी
  5. तनाव और डिप्रेशन से
  6. गर्भावस्था के दौरान
  7. सेप्टिसीमिया जैसे संक्रमण की वजह से
  8. शराब पिने से

ये सभी कारण है जिनकी वजह से शरीर में लो ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है | अब जानते है लो ब्लडप्रेशर की समस्या को दूर करने और लो बीपी के घरेलू उपाय ( bp control karne ke upay ) के बारे में |

tulsi-bp-control-karne-ke-upay

लो बीपी के घरेलू उपाय के लिए तुलसी की पत्तियां | BP Low Treatment at Home in Hindi

तुलसी की पत्तियों में पोटेशियम, मेग्नेशियम, विटामिन सी और पैंटोथेनिक एसिड अधिक मात्रा में होता है जो की हमारे लो ब्लडप्रेशर को नियंत्रित कर उसे सामान्य बनाये रखता है | साथ ही यह हमारे तनाव को भी कम करता है |इसी वजह से लो बीपी के घरेलू उपाय (bp low ka ilaj) के रूप में तुलसी की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता रहा है | इसके लिए 10 से 15 तुलसी के पत्तों का जूस निकाल लें | फिर इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं | अब रोजाना सुबह सुबह इस जूस को खाली पेट पिए |

mulethi-bp-control-karne-ke-upay

मुलेठी की जड़ है सही लो ब्लड प्रेशर का उपचार | BP Control Tips in Hindi

मुलेठी की जड़ कार्टिसोल के स्तर के गिरने के कारण होने वाले लो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करती है | यह एंजाइम को रोक देती है जिसकी वजह से कार्टिसोल टूटने लगते है और कार्टिसोल को बढ़ाने में मदद मिलती है | इसलिए मुलेठी को सही लो ब्लड प्रेशर का उपचार ( low bp ka desi ilaj ) माना जाता है |

इस नुस्खे के लिए एक चम्मच मुलेठी के पावडर को 1 कप पानी में 5 मिनिट के लिए उबाल लें | इसके बाद इसे ठंडा करके इसका सेवन करें | आप कुछ दिनों तक इसका रोजाना सेवन करें |

लो बीपी के घरेलू उपाय में फायदेमंद है बादाम | BP Control Tips in Hindi

लो ब्लड प्रेशर के लिए बादाम भी एक बहुत अच्छा विकल्प है | इसके लिए रोजाना 5 से 6 बादाम पानी में भिगो दें | सुबह उसे छीलकर मिक्सर में डालकर पीस लें | अभी इस पीसी हुई बादाम को एक कप दूध में उबाल लें | और बादाम मिले हुए इस दूध को पी जाएँ |

bp-low-treatment-at-home-in-hindi

बी पी लो का इलाज है रोजमैरी तेल | BP Low Treatment in Hindi

ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाये रखने और बी पी लो का इलाज में रोजमेरी तेल ( low blood pressure ka desi ilaj ) बहुत ही लाभकारी उपाय है | यह हमारे केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है जिससे की हमारे ब्लड के सर्कुलेशन में सुधार आता है | आप रोजाना 10 मिलीलीटर तक रोजमेरी के तेल का इस्तेमाल कर सकते है | इसके अलावा आप रोजमेरी की ताजा जड़ी बूटी को आप अपने खाने में भी डाल सकते है |

गाजर लो बीपी के घरेलू उपाय के रूप में है फायदेमंद | BP Low Treatment at Home in Hindi

गाजर भी आपके लौ ब्लड प्रेशर में बहुत ही लाभकारी होती है | इसके लिए गाजर का जूस निकालकर उसमे 2 चम्मच शहद मिलाकर पीने से आपका लो ब्लडप्रेशर की समस्या ठीक होती है और आपका ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है |

leman-bp-low-treatment-in-hindi


लो ब्लड प्रेशर का उपचार है निम्बू | BP Control Tips in Hindi

वैसे तो निम्बू का रस हाई ब्लड प्रेशर के लिए प्रभावी होता है | लेकिन निम्बू के रस से लो ब्लड प्रेशर का उपचार (low bp ka desi ilaj nimbu se )के लिए भी किया जा सकता है | अगर आपका ब्लडप्रेशर लो डिहाइड्रेशन के कारन हुआ है तो आप निम्बू के रस में थोड़ा नमक और चीनी मिलाकर पी जाएँ | यह आपके लिवर के कार्य को उत्तेजित करके आपकी पाचन क्रिया को दुरुस्त करके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है | इसके अलावा लो ब्लड प्रेशर में एक गिलास गन्ने के जूस में 1 निम्बू का रस और नमक मिलाकर पिने से भी लाभ होता है |

ये भी पढ़ें : निम्बू के छिलके है करामाती, भूलकर भी ना फेके

लो बीपी का इलाज किशमिश का पानी | BP Low Treatment in Hindi

किशमिश एक बहुत ही असरदार और प्राकृतिक उपाय है लो ब्लडप्रेशर की समस्या के लिए | इसके लिए आप एक कप पानी में 30 से 40 किशमिश को भिगोकर रख दें | और सुबह सुबह खाली पेट खा लें | आप उस पानी को भी पी सकते है जिसमे ये किशमिश भिगोये थे | लो बीपी का इलाज में किशमिश (bp low ka ilaj me kishmish) को बहुत ही लाभकारी उपाय माना जाता है|

इन सभी उपायों के अलावा नमक का पानी का सेवन करने से भी लो ब्लड प्रेशर में लाभ मिलता है | नमक में सोडियम होता है जो की ब्लडप्रेशर को बढ़ाता है| लेकिन इसका अधिक सेवन स्वास्थ्य को नुकसान पंहुचा सकता है| इसलिए एक गिलास पानी में आधा चम्मच नमक डालकर पिए |

bp low treatment in hindi

बी पी लो का इलाज है कॉफी | BP Low Treatment at Home in Hindi

कॉफी को बी पी लो का इलाज( low bp ka ilaj me coffee ) के लिए लाभकारी माना जाता है | कोई भी कैफीन युक्त पेय आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है | आप सुबह या दोपहर के खाने के साथ कॉफी का सेवन कर सकते है | लेकिन अधिक कैफीन आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है | इसलिए इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए |

बीपी लो से जुड़े सवाल जवाब

Q.1 बीपी लो के लक्षण क्या है ?

Answer : चक्कर आना, आँखों के अँधेरा, मितली आना और कमजोरी बीपी लो के लक्षण है |

Q.2 बीपी लो के कारण क्या है ?

Answer : खून की कमी, तनाव, डिप्रेशन, पानी की कमी, शराब के सेवन से, फोलेट 12 की कमी बीपी लो का प्रमुख कारण है |

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास लो बीपी के लक्षण और लो बीपी का इलाज (Bp low treatment in hindi)से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here