सेक्स करते समय एक दूसरे साथी को चरमोत्कर्ष पर पहुँचाना ही सेक्स का असली आनंद प्रदान करता है और इसमें ओरल सेक्स यानि की मौखिक यौन क्रिया महत्वपूर्ण होती है | लेकिन ओरल सेक्स को लेकर व्यक्ति हमेशा दुविधा में रहता है की इसे करना सही है या गलत | ओरल सेक्स कोई नया तरीका नहीं है सेक्स करने का बल्कि यह पुराने समय से ही हमारे समाज में रहा है | पुराने समय की कलाकृतियों में इसे देखा जा सकता है |  ओरल सेक्स का वह तरीका है जिसमें यौन संतुष्टि की चरम सीमा को पाया जा सकता है | आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की ओरल सेक्स क्या है, ओरल सेक्स करने के फायदे और नुकसान क्या है और ओरल सेक्स कैसे किया जाता है | 

क्या होता है ओरल सेक्स

जब यौन सम्बन्ध बनाने के दौरान महिला और पुरुष दोनों अपने मुंह के द्वारा एक दूसरे के यौन अंगो को सहलाते चूसते और उत्तेजित करते है, तो इस क्रिया को ओरल सेक्स कहते है | इसमें उत्तेजना बहुत तेजी से होती है और महिला और पुरुष दोनों को आनंद आता है | सेक्स के पहले अपने साथी को हाथो और मुंह से छूना और सहलाना दोनों को लम्बे समय तक सेक्स का आनंद देता है | 

क्या ओरल सेक्स सुरक्षित है 

ओरल सेक्स में मजा तो बहुत है लेकिन इसको लेकर यौन संक्रमित बीमारी यानि की STD होने का डर हमेशा बना रहता है | जो की पूरी तरह गलत भी नहीं है | लेकिन अगर ओरल सेक्स केवल अपने साथी के साथ और स्वच्छता के साथ किया जाये तो इसमें आंनद भी आता है और किसी तरह की संक्रमक बीमारी होने का खतरा भी नहीं रहता है | 

कैसे करें ओरल सेक्स 

महिला और पुरुष दोनों को सेक्स करने से पहले फोरप्ले करते हुए एक दूसरे को अपने आलिंगन और स्पर्श करना चाहिए | अपने हाथों को धीरे धीरे से पुरे शरीर पर फेरना चाहिए | इसके बाद अपने मुंह जीभ से भी अपने साथी के यौन अंगो को चूमना चाहिए | महिलाओं के योनि में क्लिटोरिस वह हिस्सा होता है जिसे अगर पुरुष अपनी जीभ से चूमता है तो महिला की उत्तेजना कई गुना बढ़ जाती है |

क्या फायदे है ओरल सेक्स करने के 

आइये जानते है ओरल सेक्स यानि की मौखिक सेक्स के फायदे

तनाव दूर करता है ओरल सेक्स

आज के समय में तनाव एक ऐसी समस्या है जिससे बड़ी संख्या में लोग परेशान है लेकिन यह माना जाता है की अगर ओरल सेक्स करते है तो इससे शरीर में स्ट्रेस हार्मोन घटने लगते है और तनाव की समस्या दूर होती है | 

रिश्ते को मजबूत बनाता है ओरल सेक्स 

एक अच्छे विवाहिक जीवन के लिए पति पत्नी के आपसी तालमेल के साथ ही सेक्स की संतुष्टि भी बहुत जरुरी होती है | लम्बे वैवाहिक जीवन में जब सेक्स नीरस लगने लगे तो ओरल सेक्स उसमे फिर से उत्साह का संचार करता है | इसलिए मौखिक सेक्स द्वारा नीरस जीवन में एक नया रोमांच बनता है और सुरक्षित मौखिक सेक्स वैवाहिक जीवन को सुखद और सफल बनाता है | 

स्तन कैंसर से बचाव में 

स्तन कैंसर महिलाओं के लिए एक बड़ी बीमारी है लेकिन हाल ही में हुई एक रिसर्च में यह बात सामने आयी है की ओरल सेक्स स्तन कैंसर को रोकने में लाभकारी है | जो महिलाएं महीने में 4 से 5 बार ओरल सेक्स करती  उनके स्तन कैंसर की सम्भावना कम हो जाती है | क्योंकि वीर्य में ऐसे तत्व पाए जाते है जो की स्तन कैंसर को विकसित होने से रोकते है |  

रक्तचाप नियंत्रित होता है ओरल सेक्स से

कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप की समस्या आ जाती है ऐसे में ओरल सेक्स को लाभकारी माना गया है | जिन  महिलाओं को उच्च रक्तचाप की शिकायत हो उन्हें ओरल सेक्स करना चाहिए | पुरुषों के वीर्य में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो की बढे हुए रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक होते है | 

ओरल सेक्स करते समय रखें सावधानियां 

अगर दोनों में से किसी भी पार्टनर को किसी भी तरह की योन बीमारी या संक्रमण हो तो ओरल सेक्स नहीं करना चाहिए |
ओरल सेक्स करने से पहले दोनों पार्टनर को अपने यौन अंगो की अच्छे से सफाई कर लेनी चाहिए | 
ओरल सेक्स तभी करे जब दोनों पार्टनर इसके लिए राजी हो | 
मौखिक सेक्स ( oral sex ) करते समय किसी को उल्टी भी आ सकती है ऐसे में रुक जाये | 
अगर ओरल सेक्स करते वक्त कुछ तकलीफ हो रही हो या प्रसन्नता नहीं हो रही हो तो ऐसे में रुक जाएँ | 

ओरल सेक्स के नुकसान 

  • ओरल सेक्स करने से यौन संक्रमक बीमारी ( STD ) हो सकती है | अगर किसी भी पार्टनर को एसटीडी है तो सीमन या योनि से निकलने वाले तरल से वह दूसरे पार्टनर को हो सकती है | 
  • अगर मौखिक सेक्स करने के दौरान मुंह में घाव हो गए हो या पहले से घाव हो मसूड़े छिले हो तो ओरल सेक्स नहीं करना चाहिए | 
  • ओरल सेक्स करने के दौरान संक्रमक कीटाणु मुँह के जरिये शरीर में प्रवेश कर जाते है और बुखार , ऐंठन और डायरिया जैसी बीमारिया हो सकती है | 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here