पपीता उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में और देश गर्म भागों में खेती की जाती है। पपीते का फल थोड़ा मीठा होता है, एक अगम्य कस्तूरी तांग के साथ, जो कुछ किस्मों में और कुछ जलवायु में दूसरों की तुलना में अधिक स्पष्ट होता है। पपीता के फायदे (papita ke fayde) के कारण ही कई देशों में एक लोकप्रिय फल है। इसका उपयोग सलाद, पाई, शर्बत, जूस और कन्फेक्शन में भी किया जाता है। पपीता लगभग 157 ग्राम में केवल 68 कैलोरी हैं।

पपीते के पोषण तत्व। Papaya Nutrients in Hindi

2.7 ग्राम आहार फाइबर, या 10 प्रतिशत डीवी।

31 मिलीग्राम (मिलीग्राम) कैल्शियम, या 3.1 प्रतिशत डीवी।

33 मिलीग्राम मैग्नीशियम, 8 प्रतिशत डीवी।

286 मिलीग्राम पोटेशियम, 6.08 प्रतिशत डीवी।

0.13 मिलीग्राम जस्ता, 0.9 प्रतिशत डीवी।

95.6 मिलीग्राम विटामिन सी, 106.2 प्रतिशत डीवी।

58 माइक्रोग्राम (एमसीजी) फोलेट, 14.5 प्रतिशत डीवी।

1,492 अंतर्राष्ट्रीय इकाइयां (आईयू) विटामिन ए, 30 प्रतिशत डीवी।

0.47 मिलीग्राम विटामिन ई, 2.4 प्रतिशत डीवी।

4.1 एमसीजी विटामिन के, 5.1, प्रतिशत डीवी।

पपीता के फायदे । Benefits of Papaya in Hindi

पपीता के फायदे
papita ke fayde

विटामिन सी हृदय के लिए। Vitamin C for The Heart 

पपीता में विटामिन सी में उच्च होता है हृदय रोग को रोकने में मदद करता हैं। पपीते के सेवन के स्वास्थ्य लाभों में हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर, पाचन में सहायता, मधुमेह वाले लोगों में Blood sugar नियंत्रण में सुधार, रक्तचाप कम करना और घाव भरने में सुधार करना शामिल है। पपीते में मौजूद तत्व फाइबर, पोटैशियम और विटामिन की मात्रा हृदय की बीमारी को दूर करने में मदद कर सकती है। पपीता सोडियम के सेवन को कम करने के साथ-साथ पोटेशियम के सेवन में वृद्धि सबसे महत्वपूर्ण आहार परिवर्तन है जो एक व्यक्ति के हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद सकता है।

बच्चो के लिए पपीता। Papaya for Kids

पपीता जो क्रिप्टोक्सैंथिन, ज़ेक्सैंथिन (zeaxanthin), c-कैरोटीन और ल्यूटिन में समृद्ध है, मुंह और फेफड़ों में कैंसर से बचाता है। पपीता के फायदे में विटामिन ए की उच्च सामग्री आपके बच्चे के लिए स्वस्थ दृष्टि और त्वचा सुनिश्चित करती है। इसमें मौजूद उच्च स्तर का फाइबर चिकनी मल त्याग सुनिश्चित करता है और बच्चों में कब्ज की समस्या को दूर रखता है।

पपीते के त्वचा के लिए। Papaya for Skin

पपीते में त्वचा को गोरा करने वाले गुण होते हैं जो स्पष्ट धब्बा और झुर्रियों को कम मदद करता हैं। एंजाइम पपैन, अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड के साथ, एक शक्तिशाली एक्सफोलिएटर के रूप में कार्य करता है और निष्क्रिय प्रोटीन और मृत त्वचा कोशिकाओं को क्रियाशील करता है। यह बदले में, आपकी त्वचा को गोरा और बिना झुर्रियों वाला बनाता है।

एंटीऑक्सीडेंट लिवर के लिए। Antioxidant for Liver

पपीते मे एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) होते है जो लिवर के लिए अच्छा होता हैं। पपीता लिवर को detoxify करता है, यह मुख्य रूप से वृद्धों, बच्चो और शराब का सेवन करने वालो के लिए लाभ कारी होता है। पपीता के ओक्सिडेंट लिवर सेल में मुक्त कणों के उत्पादन को रोकते हैं तथा आसानी से नई पाचन कोशिकाओं को उत्पन्न करते हैं। पपीता में cytochrome P 450 isoenzyme होता है जो लिवर के लिए फायदेमंद होता है। 

सर्दी में पपीता के फायदे। Papaya in Treating Cold

सर्दी जुखाम में पपीते के फायदे बहुत है। इस में बीटा-कैरोटीन (beta carotene)और विटामिन सी (vitamin C) और विटामिन ई(Vitamin E) की मात्रा अधिक होती है, ये सभी आम सर्दी से लड़ने में शरीर की मदद करते हैं। पपीते में विटामिन सी (vitamin C)के 250 प्रतिशत आरडीए होते हैं, जो शरीर को सर्दी से लड़ने वाले पोषक तत्व का शक्तिशाली स्रोत बनता हैं। पपीते के साथ  साथ पपीते के पत्ते भी सर्दी और डेंगू में मदद करता है।  

फाइबर वजन कम करने में। Lose Weight

इसमें एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant)और न्यूनतम कैलोरी के साथ फाइबर का अच्छा स्रोत है। इन सभी लाभों के अलावा, पपीता आपको वजन कम करने में भी मदद करता है। पपीता फैट को कम करता है और detoxification में मदद करता है। इस में मौजूद फाइबर पेट भरने के बाद दोबारा भूख लगने नहीं देता जिससे वजन कम होने की सम्भावना भड़ जाती है।  

पपीता बालो के लिए। Papaya for Hair

पपीता युक्त हेयर मास्क सूखी और कम बल वाली खोपड़ी के इलाज में मदद कर सकता है। इस हेयर मास्क बनाने के लिए कच्चे पपीते के बीज निकालें और आधा कप दही के साथ फल मिलाएं। पीते में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व बालो को मजबूत बनाते है। बालों पर पेस्ट को लगभग 30 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे दोह ले। 

डेंगू से लड़ने में। Fighting Dengue

पपीता डेंगू से लड़ने के लिए सबसे अच्छा है। पपीता कई बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है। इसकी पत्तियां रक्त में प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने के लिए अच्छी होती हैं। यह मलेरिया-रोधी गुणों में भरपूर होता हैं। जिससे यह डेंगू और मलेरिया बीमारियों से लड़ने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है। 

पपैन एंजाइम पेट के लिए। Papain Enzyme for Stomach  

पपीता में पपैन नाम का एक प्राकृतिक पाचन एंजाइम होता है जो उन खाद्य पदार्थों को पचने में फायदे करता है जो पेट में जलन पैदा करते हैं। पपीते में दोनों घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होते है। यह दोने प्रकार के फाइबर महत्वपूर्ण है। इन दोनों प्रकार के फाइबर आवश्यकता स्वास्थ्य पाचनक में होती है।

जानिए पपीता के कुछ नुकशान। Papaya Loss

  • पपीता गर्भवती महिलाओ के लिए नुकशान दायक हो सकता है। 
  • पपीता खाने से भूण को सुकड़ने का खतरा हो सकता है। 
  • अधिक पपीता खाने से पेट ख़राब हो सकता है। 
  • पपीता खाने से अधिक रक्त-पतला सकता है, जो हानिकारक है। 
  • पपीता रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है, जो मधुमेह रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है। 
  • अधिक पपीता खाने से सूजन, चक्कर आना, सिरदर्द, चकत्ते और खुजली शामिल हो सकते हैं। 

पपीता से जुड़े प्रश्न और उत्तर। Questions and Answers Related to Papaya in Hindi.

Q.  प्रति दिन कितना पपीता खाना चाहिए?

Answer.  प्रति दिन 157 ग्राम पपीता खाना सही रहता है। 

Q. क्या पपीता लिवर के लिए अच्छा है? 

Answer. पपीता लिवर को एंटीऑक्सिडेंट होता है। 

Q. पपीता खाने के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? 

Answer. पपीता खाने के साइड इफेक्ट्स गर्भवती महिलाओ, खून पतला, पेट दर्द होता है। 

Q. पपीता खाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

Answer. पपीता खाने का सबसे अच्छा समय नाशते में और रात का खाना खाने के बीच में होता है।      

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here