कैंसर का नाम आते ही मोत की आहट सुनाई देने लगती है , कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसके कारन ना जाने कितने लोगो की जान हर साल चली जाती है | कैंसर का इलाज है तो सही लेकिन वह बहुत महंगा है और उसमे भी पूर्ण सम्भावना नही है की मरीज बच ही जाये | लेकिन आज हम आपको एक ऐसे  औषधीय पौधे के बारे में बताएंगे जिसके बारे में इंटरनेशनल डॉक्टर्स एंड रिसर्च ऑफ़ यूके एंड यूएस का कहना है की यह कई तरह के कैंसर को रोकने में कारगर है |

आज के समय में हम  लोग ज्यादातर अंग्रेजी दवाइयों, यानि की एलोपेथी दवाइयों पर निर्भर है | लेकिन फ्रेंड्स ये दवाइया तुरंत असरकारक तो होती है ,लेकिन इनसे कोई भी बीमारी जड़ से ख़त्म नहीं हो पाती | और साथ ही इनके कुछ साइड इफेक्ट भी होते है | इनके बजाय अगर देखा जाये तो हमारी हर बीमारी और हर समस्या का समाधान हमे हमारे आसपास ही मिल जायेगा  | हमारी प्रकृति में कुछ ऐसे औषधीय गुणों से युक्त पेड़ पौधे है जिनसे हमारी हर गंभीर से गंभीर बीमारी को भी जड़ से ख़त्म किया जा सकता है | आज हम एक ऐसे ही प्रकृति द्वारा दी जाने वाली औषधि के बारे में जानेगे |

ये भी पढ़ें : कैंसर फैलाने वाले 3 सबसे हानिकारक उत्पाद

पपीते का पूरा पेड़ ही औषधीय गुणों से भरपूर होता है

पपीते के गुण तो हम सभी को पता है की यह हमारे स्वास्थ्य  के लिए कितना लाभदायक है | लेकिन पपीता ही नहीं बल्कि पपीते की पत्तिया भी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है | इसके चमत्कारिक गुण  सुनकर आप हैरान रह जायेंगे | पपीते का पूरा पेड़ ही औषधीय गुणों की खान है | चाहे इसका तना हो फल हो या पत्तिया | आज हम पपीते की पत्तियों के औषधीय गुणों के बारे में जानेंगे |

कैंसर के इलाज में पपीते की पत्तियां  बहुत ही कारगर है | पपीते की जो पत्तिया होती है, वो 5 हफ्ते के अंदर अंदर कैंसर को ख़त्म करने में कारगर होती है | दोस्तों कई शोधकर्ताओं के मुताबिक पपीते की पत्तियों में ऐसे गुण पाए जाते है जो कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते है | जिससे की कैंसर की रोकथाम की जा सकती है |  यूनिवर्सिटी ऑफ़ फ्लोरिडा एंड इंटरनेशनल डॉक्टर्स एंड रिसर्च ऑफ़ यूके एंड यूएस ने भी इस बात की पुस्टि की है की कैंसर रोकने और उसके इलाज में पपीते की पत्तियां बहुत कारगर होती है |

ये भी पढ़ें : आम चीजें जो हो सकती है जानलेवा, आज से ही खाना बंद कर दें

10 तरह के कैंसर को रोकती है पपीते की पत्तियां

वही एक मशहूर शोधकर्ता नेन डेंग करके है उनके अनुसार जो ये पत्तिया होती है दोस्तों इसमें औषधीय गुण पाए जाते है जो की हमारे शरीर में होने वाले कैंसर को रोक सकते है | उनके मुताबिक यह हमारे शरीर में होने वाले 10 प्रकार के कैंसर को रोक सकती है |

जिसमे से कुछ इस प्रकार है दोस्तों ब्रेस्ट कैंसर, लंग कैंसर, लिवर कैंसर आपको हैडपैन क्रियाटिक कैंसर | सव्रिक कैंसर यह मुख्य कैंसर है, जिनका इलाज तुरत किया जाये और इन पत्तियों का इस्तेमाल किया जाये | तो यह बहुत कारगर होता है | इसीलिए दोस्तों यह बहुत सारे तथ्य है, जो बहुत सरे शोधकर्ताओं ने बहुत स्टडी के बाद तैयार किये है | तब जाकर ये औषधीय प्लांट हमारे सामने लेकर आये है की उसकी पत्तियों में कितनी मात्रा में फायदा हमारे शरीर को पहुंचाते है | जब इंसान को कैंसर हो जाता है तो अगर वह इसकी पत्तियों का उपयोग कर ले दोस्तों इसकी रोकथाम आसानी से की जा सकती है |

ये भी पढ़ें : इन्हें आपस में मिला कर कभी न खाए हो सकते है बीमार

पपीते की पत्तियां का असर कैंसर की कोशिकाओं पर

तो आइये अब हम आपको बताते है की  पपीते की पत्तियों किस प्रकार कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकती है या फिर ख़त्म करने में किस प्रकार से सहायक होती है | दोस्तों पपीते की पत्तियों में कैंसर रोधी अणु पाए जाते है जो हमारे शरीर में cytopaimins के उत्पादन को बढ़ाते है जो की इम्यून सिस्टम को शक्ति प्रदान करते है | जी हां दोस्तों इम्यून सिस्टम का शक्तिशाली होना हमारे लिए बहुत ज्यादा जरुरी है | यदि हमारी इम्युनिटी सही रहती है तो हमारे अंदर किसी भी रोग के खिलाफ लड़ने की रोग प्रतिरोधक क्षमता जो है वो बढ़ जाती है | इसलिए यह हमारे इम्यून सिस्टम को शक्ति प्रदान  करता है | वही पपीते में मौजूद एंजाइम पपेन वो हमारी कोशिकाओं में मौजूद प्रोटीन के आवरण को तोड़ने का काम करता है |

दोस्तों जो कैंसर की कोशिकाएं होती है तो इनका वंहा पर जाना या रुकना मुश्किल हो जाता है इसलिए यह बिलकुल नस्ट हो जाती है | वही जो यह पपेन है वो ब्लड में जाकर मैक्रोफेजेज को उत्तेजित कर देता है | जो की हमारे इम्यून सिस्टम को उत्तेजित करता है | जो की कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है | तो इस प्रकार यह सहायक होता है | एक प्रकार की रोकथाक करता है और कैंसर को बढ़ने से रोकता है | तो आइये अब बात करते है किस विधि द्वारा पपीते के पत्तों का आपको यूज़ करना है | जिससे की यह आपके लिए फायदेमंद हो | तो सबसे पहले दोस्तों यह जो पपीते की पत्तियों की चाय बनाने की विधि है इसके लिए हम आपको बताते है की आपको क्या करना है |

ये भी पढ़ें : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

पपीते के पत्तों की चाय बनाने के विधि

आप पपीते के 7 पत्ते लीजिये या आप उससे ज्यादा भी ले सकते है | उसे धुप में अच्छे से सूखा लीजिये | जब वो सुख जाये तो उसकी पत्तियों को अच्छे से तोड़कर 500 मिलीलीटर पानी में डालकर उबाल ले | और आपक इसे जब तक उबालना है जब तक क इसकी क्वांटिटी 125  ml तक ना हो जाये | क्युकी इसको दोस्तों आपको आधा ही सेवन करना है | इसका सेवन आप दिन में 3 से 4 बार कर सकते है |

वही अगर आपने अगर ज्यादा ही बना के रख लिया है तो आप इसे स्टोर करके भी रख सकते है | और बाद में भी इसका इस्तेमाल कर सकते है | लेकिन इस बात का ध्यान रखना है की इसे दोबरा गर्म नहीं करना है | और बिना गरम किये ऐसे ही इसका इस्तेमाल कर सकते है | यह थी विधि पपीते के पत्ते की चाय की | दोस्तों अगर आप पपीते के पत्ते की चाय दिन में 3 – 4 बार अगर लेते है और रेगुलर आप इसे लेते है | तो दोस्तों यह दावा किया गया है की इससे कैंसर के होने का खतरा बहुत कम हो जाता है | यानि की  यह ख़त्म हो जाता है |

यह पूरी तरह प्राकृतिक है और इसके कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है | यह पूरी तरह से हर्बल है और इससे आपके स्वास्थ्य को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है | अगर आप इस नुस्खे का  5 सप्ताह तक सेवन करते है तो आपको इसका बहुत लाभ होगा | लेकिन हमारी सलाह से आपको काम से कम 3 महीने तक इसका सेवन करना चाहिए | यह एक प्राकृतिक नुस्खा है तो आप चाहे तो 3 महीने से ज्यादा भी इसका सेवन कर सकते है | इसका सेवन आपके स्वास्थ्य को बहुत लाभ पहुचायेगा |

ये भी पढ़ें : चाय करेगी फायदा, लेकिन बनाने का तरीका है अलग

तो फ्रेंड्स अगर आपको आपको हमारा  यह वीडियो पसंद आया हो तो इसे लाइक करें | अगर  कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें | साथ ही और लोगो को भी इस जानकारी का लाभ मिले,  इसके लिए इस वीडियो को अधिक से अधिक शेयर करें | और अंत में इस चैनल को सब्स्क्राइब करना ना भूले,  धन्यवाद |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here