क्या हर महीने पीरियड्स में  होने वाले दर्द से आप परेशान है | क्या पीरियड्स के दौरान दर्द के आने से पहले ही आपको दर्द का डर सताने लगता है | या फिर पीरियड्स के दौरान दर्द की वजह से आपके रोजमर्रा के काम में भी दिक्कत आती है|  तो आज हम आपको कुछ ऐसे असरदार नुस्खे बताने वाले है जिससे आपका
पीरियड्स के दौरान होने वाला दर्द ( masik dharm me dard ) पूरी तरह गायब हो जायेगा |

मासिक धर्म यानि की पीरियड्स का आना हर महिला के लिए यह एक सामान्य प्रक्रिया है | लेकिन कई बार महिलाओं को इस दौरान दर्द की शिकायत रहती  है | और कई महिलाये शर्म के कारन इसके बारे में किसी को बता भी नहीं पाती है |

मासिक धर्म के समय होने वाला दर्द दो प्रकार का होता है |

पहला तो है रक्ताधिक कस्टातर्व यानि की congestive  dysmenorrhoea और दूसरा है ऐठनयुक्त कस्टातर्व यानि की spasmodic  dysmenorrhoea |

periods pain solution in hindi

मासिक धर्म के समय दर्द में रक्ताधिक कस्टातर्व (congestive  dysmenorrhoea )

रक्ताधिक डिसमेनोरिया का दर्द अधिकांशत विवाहित महिलाओं को होता है जो की उनके गर्भाशय के आस पास के अंगो में होता है | अधिकतर मासिक धर्म के समय का यह दर्द मासिक धर्म के आने से पहले तीन चार दिन पहले ही चालू हो जाता है | और मासिक धर्म शुरू  होने के बाद अपने आप ठीक हो जाता है | जो महिलाओ कम शारीरिक मेहनत वाला काम करती है उन्हें यह दर्द ज्यादा होता है | अगर इस दौरान ज्यादा चीनी खाने और एक्सेर्साइज़ करने से इसमें आराम मिलता है |

ये भी पढ़ें : अनियमित माहवारी का इलाज

मासिक धर्म के समय दर्द में ऐठनयुक्त कस्टातर्व ( spasmodic  dysmenorrhoea )

मासिक धर्म के समय दर्द में दूसरा ऐंठनयुक्त  डिसमेनोरिया वाला दर्द अधिकांशतः कुंवारी लड़किओं को होता है | अधिकांशतः यह दर्द मासिक धर्म के प्रारम्भ से प्रथम प्रसव तक होता है | यह दर्द गर्भाशय में होता है | आधे घंटे थक यह दर्द बहुत तेज रहता है | और इस दौरान कंपकपी और  जी मिचलाने लगता है |

महिलाओं के शरीर में बनने वाला प्रोस्टाग्लैंडीन रसायन मासिक धर्म में होने वाले दर्द का मुख्य कारन होता है | जो उत्तक गर्भाशय का अंदरूनी अस्तर बनाते है वही इस रसायन का निर्माण होता है | प्रोस्टाग्लैंडीन रसायन गर्भाशय की मांसपेशियों में संकुचन को बढ़ाता है | जिन महिलाओ में प्रोस्टाग्लैंडीन रसायन का निर्माण अधिक  होता है उनके गर्भाशय की मांसपेशियों में संकुचन अधिक होने की वजह से दर्द अधिक होने लगता है |

इनके अलावा बच्चेदानी के मुंह के छोटे होने , बच्चेदानी में रक्त की कमी तथा जननेन्द्रिय के सभी भागों का सामंजस्य से कार्य न करने, और भोजन में पोषक तत्व युक्त आहार नहीं लेने से हमारे मस्तिष्क और नर्व सिस्टम के सही तरह काम करने के लिए जरुरी पोटेशियम और सोडियम नहीं करने की वजह से भी महिलाओ में पीरियड्स के दौरान दर्द रहने लगता है |

अब जान लेते है उन उपायों के बारे में जिनसे इस दर्द को कम और दूर कर दिया जा सकता है |

periods-pain-in-hindi
5 Essential Vitamins: Iron, Zinc, Vitamin C and More


मासिक धर्म के समय का दर्द ठीक करने के लिए भोजन में विटामिन और आइरन को शामिल करें | Periods Pain Solution in Hindi

मासिक धर्म के दौरान विटामिन और आइरन की खपत अधिक हो जाती है | इसलिए सही समय पर इनकी कमी की पूर्ति नहीं की जाये तो पीरयड्स में परेशानी आती है | इसलिए अपने खाने में ऐसे भोजन को शामिल करे जिससे विटामिन और आइरन की पूर्ति हो | इससे मासिक धर्म के समय का दर्द(masik dharm me dard) ठीक होगा और आपको आराम मिलेगा |

ये भी पढ़ें : भोजन में शामिल होगी ये चीजे तो कभी नहीं होंगे बीमार

मासिक धर्म के समय का दर्द ठीक होगा मूली से | Periods Pain Relief Tips in Hindi

अगले उपाय के रूप में आप मूली के बीजो को पीसकर 4-4 ग्राम सुबह दोपहर शाम तीन बार गर्म पानी के साथ सेवन करे | इससे मासिक धर्म खुलकर आता है और इस दौरान होने वाला दर्द भी ठीक हो जाता है| मासिक धर्म के समय का दर्द (masik dharm me dard) ठीक करने के लिए मूली एक फायदेमंद विकल्प है |

हींग का सेवन भी मासिक धर्म में होने वाले दर्द में लाभ पहुंचाता है |

periods-pain-solution-in-hindi


मासिक धर्म के समय दर्द में गुड़ और अजवाइन फायदेमंद है | Periods Pain Solution in Hindi

मासिक धर्म के समय का दर्द ठीक करने के लिए अगले उपाय के रूप में आप गुड़ और अजवाइन को घी में हलवे की तरह बना ले और खाये | इससे भी दर्द में लाभ मिलता है और रुक रुक कर आने वाले दर्द में फायदा मिलता है |

अगर आप अविवाहित है तो सोंठ और पुराने गुड़ का काढ़ा बनाकर पियें | इसके अलावा शीतल पेय और खट्टी चीजों को खाने से परहेज रखे |

मासिक धर्म के समय दर्द में नीम के पत्ते का रस फायदेमंद है | Periods Pain in Hindi

यदि मासिक धर्म के दौरान आपकी जांघो में अधिक दर्द रहता है तो मासिक धर्म के समय का दर्द (masik dharm me dard) दूर करने के लिए इन  दिनों में नित्य नीम के पत्तो का रस 6 ग्राम, अदरक का रस 12 ग्राम , को इतने ही पानी में मिलाकर पियें | इससे भी दर्द में तुरंत आराम मिलता है |

ये भी पढ़ें : नीम के फायदे

periods pain in hindi

गाजर और गुड़ से कम होता है पीरियड के दर्द में | Periods Pain Solution in Hindi

अगर मासिक धर्म नहीं आता है तो 2 चम्मच गाजर के बीज और एक चम्मच गुड़ 1 गिलास पानी में उबालकर रोजाना सुबह शाम गर्म पानी पिए तो इससे मासिक धर्म सही समय पर आएगा और इस दौरान होने वाला पीरियड के दर्द (periods me dard) भी कम हो जायेगा |

राइ से ठीक होता है पीरियड्स के दौरान का दर्द | Periods Pain in Hindi

इसके अलावा चार चम्मच पीसी हुई राइ को दो गिलास पानी में उबालकर उसमें कपड़ो को भिगोकर पेट का सेक करें | इससे मासिक स्त्राव सही ढंग से और पूरा आता है और इस दौरान होने वाले पीरियड्स के दौरान का दर्द ( periods me dard ) भी ठीक हो जाता है |

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास पीरियड्स के दौरान का दर्द से सबंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here