Home स्वास्थ्य महिला स्वास्थ्य प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय में हल्दी, पपीता, तुलसी और अन्य उपाय...

प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय में हल्दी, पपीता, तुलसी और अन्य उपाय – Pregnancy Rokne ke Upay in Hindi

0
895
garbh thahrne se bachne ke upay

गर्भनिरोधक पिल्स के कुछ साइड इफेक्ट होते है, जिन्हे की आप अक्सर नजर अंदाज कर देते है| लेकिन ऐसे में क्या कोई ऐसा रास्ता है, जिससे आप अनचाही प्रेगनेंसी से बच सके और उसके कोई साइड इफेक्ट भी ना  हो| प्रेगनेंसी रोकने के उपाय (pregnancy rokne ke upay in hindi ) में कुछ ऐसे हर्बल उपाय और देशी नुस्खे है, जिनका उपयोग करके आप अनचाही प्रेगनेंसी को तो रोक सकते है, और इनके इस्तेमाल से आपको कोई नुकसान नहीं होता है, और आप सेक्स का भी भरपूर मज़ा बिना किसी डर के ले पाते है |

विषय सूची

प्रेगनेंसी रोकने के उपाय में घरेलू नुस्खे | Pregnancy se Bachne ke Upay me Desi Nuskhe in Hindi

इन उपायों के अलावा कुछ ऐसे हर्बल और प्राकृतिक नुस्खे है  जो की बर्थ को कंट्रोल करती है | ये घरेलू नुस्खे आपके एग्स का फर्टिलाइजेशन रोक देते है | इन नुस्खों का यूज़ प्राचीन काल से किया जाता आ रहा है |

और ये नुस्खे  अनचाही प्रेगनेंसी को रोकने में बेहद कारगर है |

तो आइये अब जानते है उन हर्बल और प्राकृतिक गर्भ रोकने के घरेलू उपाय और नुस्खों के  बारे में |

हल्दी से प्रेगनेंसी रोकने के उपाय | Pregnancy Rokne ke Upay me Haldi in Hindi

हल्दी से प्रेगनेंसी रोकने के उपाय
pregnensy rokne ke upay me haldi hai labhkari

हल्दी हमारी रसोई का मुख्य मसाला है और कई तरह की बीमारियों से मुक्त रखने के साथ ही हल्दी से प्रेगनेंसी रोकने के उपाय भी काफी असरदार है | प्रेगनेंसी से बचने के लिए हल्दी की गांठ को पीसकर कपड़े से छान लें|

और मासिक धर्म के पांचवे दिन से आठवें दिन तक 3 ग्राम मात्रा यानि की आधा चम्मच की मात्रा को सुबह शाम तजा पानी के साथ ले | इस प्रकार हर महीने 3 दिन तक इसको लेने से प्रेगनेंसी होने का डर नहीं रहता है |

गर्भधारण से बचने के उपाय है पपीता | Pregnancy se Bachne ke Upay me Papita in Hindi

गर्भ रोकने के उपाय में पपीता
pregnensy rokne ke upay me aajmaye papita


गर्भधारण से बचने के उपाय में पपीता का भी उपयोग भी काफी कारगर है |पपीते में विटामिन सी और पपाइन नामक एसिड पाया जाता है जो की आपकी प्रेग्नेंसी को रोकता है |

इसके इस्तेमाल के लिए सबसे पहले एक पपीते के बीजो को धो कर सूखा ले | सूखने के बाद इनको पीसकर इसका पावडर बना ले |

अब जिन दिनों में आपको प्रेगनेंसी की सम्भावना लग रही हो उन दिनों 2 चम्मच रोजाना पानी के साथ इसका सेवन करें | यह प्रेगनेंसी रोकने में एक कारगर उपाय है | पपीता एक बेस्ट बर्थ कंट्रोलर है |

 इसलिए जो महिलाये प्रेग्नेंट है या बच्चो को दूध पिलाती है उन्हें पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए | क्युकी इससे गर्भवती महिलाओ के गर्भ गिरने की सम्भावना बढ़ जाती है |

गर्भनिरोधक घरेलू उपाय है तुलसी का काढ़ा | Tulsi ka Kadha hai Ghrelu Garbhnirodhak Upay

pregnancy rokne ke upay me tulsi ka kadha एक बहुत ही कारगर नुस्खा है| गर्भधारण से बचने के उपाय के रूप में तुलसी के फायदे बहुत अधिक है| मासिक धर्म पुरे होने के तीन दिन तक 1 कप तुलसी का काढ़ा सेवन करना चाहिए इससे गर्भ नहीं ठहरता है | और इसका कोई भी नुकसान नहीं होता है |

इसे बनाने के लिए तुलसी के 10 से 15 पत्तों को उबाल लें और पानी जब घटकर आधा मतलब 1 गिलास  रह जाये इसे उतार ले और इसका सेवन करें | प्रेगनेंसी रोकने में यह बहुत ही फायदेमंद है |

ये भी पढ़ें : गर्भ ठहरने के लक्षण

प्रेगनेंसी से बचने के उपाय में अरंडी के बीज |
Garbh Nirodhak Upay me Arandi ke Beej

अगले उपाय के लिए हमें जरुरत होगी अरंडी के बीज की |अरंडी के बीज का उपयोग प्रेगनेंसी रोकने के उपाय के रूप में किया जाता रहा है |

अरंडी के बीज छीलकर मासिक धर्म के पाचवे दिन एक पूरा बीज बिना कुछ खाये पूरा निगल लें | इससे आपके एक साल तक गर्भ नहीं ठहरेगा |

fitkari-pregnensy-rokne-keupay me
Pregnensy rokne ke upay me fitkari hai labhkari

गर्भ ठहरने से बचने के उपाय में फिटकरी | Pregnancy Rokne ke Upay me Fitkari

इसके अलावा गर्भ से बचने के उपाय (garbh rokne ke upay) के रूप में फिटकरी के फायदे बहुत अधिक है | इसके लिए 2  ग्राम फिटकरी को बिलकुल बारीक़ यानि की मैदा की तरह पीसकर उसमे 12 ग्राम वेसलीन मिला ले और सम्भोग यानि की सेक्स करने से पहले अपने गुप्त अंगो पर लगा ले | इस उपाय से 80 प्रतिशत तक गर्भ नहीं ठहरने की सम्भावना रहती है |

बहुत अधिक है | इसके लिए 2  ग्राम फिटकरी को बिलकुल बारीक़ यानि की मैदा की तरह पीसकर उसमे 12 ग्राम वेसलीन मिला ले और सम्भोग यानि की सेक्स करने से पहले अपने गुप्त अंगो पर लगा ले | इस उपाय से 80 प्रतिशत तक गर्भ नहीं ठहरने की सम्भावना रहती है |

प्रेगनेंसी रोकने का उपाय है नीम | Pregnensy se Bachne ke Upay me Neem

एक बहुत अच्छा एंटिबाइटिक तो है ही साथ ही Pregnancy rokne ke upay me neem बहुत लाभकारी है| नीम की प्रकृति शुक्राणुओं की गतिशीलता को कम करता है और इससे गर्भ ठहरने की सम्भावना बहुत ही कम हो जाती है |

इसके लिए गर्भ ठहरने से रोकने के लिए गर्भ निरोध के उपाय के रूप में नीम का उपयोग कर सकते है |

प्रेगनेंसी रोकने के उपाय में अजमोद | Garbh Nirodhak Upay me Ajmod

pregnancy rokne ke upay me ajmod एक बहुत ही लाभकारी जड़ी बूटी है | इसके सेवन से ना सिर्फ आप गर्भधारण से बच सकती है साथ ही इसके उपयोग से आपका मासिक धर्म चक्र भी नियंत्रित होता है |

यह आयुर्वेदिक है और इसका सेवन आप चाय के रूप में भी कर सकते है साथ ही इसके सेवन के कोई भी नुकसान नहीं है |

गर्भनिरोधक घरेलू उपाय के लिए कपास | Pregnensy Rokne ke Upay me Kapas ki Jad

pregnensy se bachne ke upay me kapas ki jad बेहद लाभकारी मानी जाती है | कपास की जड़ में ऑक्सीटोसिन पाया जाता है जो गर्भ में संकुचन करता है जिससे की गर्भ ठहर नहीं पाता है और गर्भपात हो जाता है |

इसके लिए कपास की जड़ को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें और इसे आप चाय या गर्म पानी में मिलाकर दिन में 2 बार पी सकती है |

ये भी पढ़ें : बांझपन का कारण और इलाज

गर्भनिरोधक पिल्स से गर्भ रोकने का तरीका है हानिकारक

बच्चे सभी को पसंद होते है लेकिन उसका भी सही समय होता है जिसके लिए आजकल शादीशुदा जोड़े फैमिली प्लान करके चलते है | और इसके लिए अलग अलग तरह के गर्भनिरोध का इस्तेमाल करते है |

जंहा कुछ लोग कॉन्डम का यूज़ करते है वही कुछ लोग कॉन्डम की वजह से सेक्स का पूरा आनंद नहीं उठा पाते है इसके लिए इससे अवॉयड करते है |

इसकी जगह गर्भ निरोधक पिल्स का यूज़ करते है | जो की बिलकुल गलत गर्भ रोकने का तरीका (pregnancy rokne ke tarike) है |

कई लोग बच्चो के बीच में सही अंतराल रखने के लिए भी गर्भनिरोधक के रूप में पिल्स का इस्तेमाल करते है | लेकिन इन पिल्स मे  केमिकल होने की वजह से ये आपके शरीर को नुकसान पंहुचा सकती है |

आज हम आपको प्रेगनेंसी रोकने के उपाय में दो तरह के उपाय बताएंगे | इनमें पहले उपाय है जो की बाजार में उपलब्ध है | और दूसरे प्रेगनेंसी रोकने के उपाय में घरेलू नुस्खे जिनके कोई साइड इफेक्ट नहीं है और जो बहुत प्रभावी है |

गर्भनिरोध उपाय के लिए पूल आउट विधि | Pregnancy Rokne ke Upay me Pull Out Method in Hindi

गर्भनिरोध उपाय के लिए पूल आउट विधि बहुत ही कारगर है | पूल आउट का मतलब है
( Pull Method in Hindi) सेक्स क्रिया के दौरान पुरुष साथी का जब वीर्य निकलने लगे तब लिंग को योनि से बाहर निकालकर वीर्य को बाहर निकाले |

लेकिन अगर थोड़ा सा भी वीर्य योनि में निकल जाता है, तो उसके साथ छोटी मात्रा में शुक्राणुओं की संख्या से भी महिला प्रेगनेंट हो सकती है |  क्युकी शुक्राणुओं का महिला के गर्भाशय में रहने से महिला के प्रेगनेंट होने की सम्भावना अधिक हो जाती है | इसलिए वीर्यपात होने से पहले ही लिंग को योनि से निकलना जरुरी है |

प्रेग्नेंसी से बचने के लिए गर्भनिरोध पेच | Pregnancy Rokne ke Upay ke liye Contraceptive Patch in Hindi

आप चाहे तो प्रेगनेंसी रोकने के लिए आप गर्भनिरोध पैच का उपयोग कर सकते है, यह बेहद कारगर है | इस गर्भनिरोध पैच को महिलायें  पेट के निचले हिस्से में लगा सकती है | गर्भनिरोध पैच में प्रोजेस्ट्रोन और एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा होती है | इन्हीं हार्मोन का उपयोग गर्भनिरोधक  गोलियों में होता है |

यह हार्मोन शरीर प्राकृतिक रूप से सोख लेता है | और ये हार्मोन शरीर में जाकर अंडे को निकलने में बाधा पैदा करते है | जिससे की शुक्राणु अंडे को निषेचित नहीं कर पाते है | और इससे प्रेगनेंसी की सम्भावना काफी कम हो जाती है |

गर्भ निरोधक उपाय में कॉपर टी | Pregnancy rokne ke tarike me Copper T in Hindi

आज के समय में प्रेगनेंसी को रोकने के लिए कॉपर टी  का उपयोग बहुत ही कारगर उपाय है | और इसका इस्तेमाल करके सेक्स का पूरा आनंद लेते हुए गर्भधारण से बचा जा सकता है | यह एक प्लास्टिक की छड़ है जिसे गर्भाशय में लगा दिया जाता है , जिससे की शुक्राणु और अंडाणु से मिल नहीं पाते है | 

जिससे की प्रेगनेंसी की सम्भावना खत्म हो जाती है | इसको लगाना भी बहुत आसान है और प्रेगनेंसी को रोकने के लिए यह बहुत ही कारगर उपाय है | और इसका बड़ी संख्या में उपयोग भी प्रेगनेंसी से बचने के लिए किया जाता है |

प्रेगनेंसी से बचने के लिए गर्भ निरोध रिंग | Pregnancy Rokne ke Upay me Garbhnirodh Ring in Hindi

गर्भनिरोध के रूप में गर्भनिरोध रिंग एक बहुत ही बेहतर विकल्प है | यह उपयोग में बहुत ही आसान और सुरक्षित उपाय है | यह बहुत ही लचीला और छोटा होता है जिसे की योनि के अंदर डाला जाता है , इससे निकलने वाले हार्मोन प्रेगनेंसी को रोकते है |

इसके बेहतर उपयोग से 98 प्रतिशत तक प्रेगनेंसी की सम्भावना कम हो जाती है | लेकिन समय समय पर इस गर्भनिरोध रिंग को बदलने की जरुरत होती है | 

ये भी पढ़ें : ब्रेस्ट को टाइट करने के उपाय में असरदार क्रीम

ये गर्भ रोकने के घरेलू उपाय भी फायदेमंद है

यदि सम्भोग यानि की सेक्स करने से पहले अगर थोड़ी सी रुई को कोस्ट्रायल में भिगोकर योनि में अच्छे से फिरा दे तो गर्भ धारण नहीं होता है | गर्भ रोकने के घरेलू उपाय (pregnancy rokne ke tarike) के रूप में यह सबसे कामयाब प्रयोग है |

और अब हम आपको अंतिम उपाय बताने जा रहे है इसके लिए बबूल के फूल को बारिश के समय में गाय के दूध के साथ पिने से भी प्रेगनेंसी से बचाव होता है  और गर्भ नहीं ठहरता है |

हम उम्मीद करते है की Pregnancy rokne ke upay से सबंधित आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | लेकिन ऊपर बताये गए किसी भी नुस्खे को आजमाने से पहले आपको एक बार डॉक्टर की राय जरूर ले लेनी चाहिए |

आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास प्रेगनेंसी से बचने के उपाय ( Pregnancy se Bachne ke Upay ) से सबंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here