क्या आप अपने साथी को संतुस्ट नहीं कर पाते है | और शिघ्नपतन की समस्या के कारन आप तनाव में है | तो आप परेशान ना हो क्योंकि शीघ्रपतन का इलाज (Sheeghrapatan ka ilaj) पूर्ण रूप से संभव है, और आज हमारे द्वारा बताये नुस्खों और उपायों से आपकी शिघ्नपतन की समस्या पूरी तरह दूर होगी, और आप की सेक्स पावर बढ़ जाएगी| जिससे आप अपने  पार्टनर को पूरी तरह से संतुस्ट कर पाएंगे | और बिस्तर पर आपकी परफॉर्मेंस देख कर आपकी पार्टनर हैरान रह जाएगी | तो आइये जानते है शीघ्रपतन क्या है, शीघ्रपतन के कारण और शीघ्रपतन रोकने के उपाय एवं असरदार नुस्खों के बारे में |

विषय सूची

शीघ्रपतन क्या है | Sheeghrapatan Kya hai in Hindi

सम्भोग यानि की सेक्स करते वक्त जब आप का वीर्य आपकी इच्छा के विरुद्ध और बहुत जल्दी गिर जाता है, उसे शिघ्नपतन कहते है | अगर मेडिकल की भाषा में कहा जाये तो जब आपका वीर्य आपके लिंग के योनि में जाने से पूर्व ही या इंटरकोर्स होने के 60 सेकेंड के भीतर ही स्खलित यानि की गिर जाता है, तो यह शिघ्नपतन की समस्या कहलाती है |

इसके कारन आपका पार्टनर संतुस्ट नहीं हो पाता, और उसे सेक्स करने में मजा नहीं आता है | ऐसे में उसकी आपके साथ सेक्स करने में इच्छा कम होने लगती है और यह विवाद की वजह और तनाव का कारन बन जाता है | कई मामलों में इसकी वजह से कई विवाह सम्बन्ध भी टूट जाते है |

शिघ्नपतन के कारन | Shighrpatan ke karan in Hindi

शीघ्रपतन की समस्या के पीछे मुख्यत 2 वजह होती है –
1. मनोवैज्ञानिक कारण।
2 . शारीरिक कारण

शीघ्रपतन के मनो वैज्ञानिक कारण

  • जब व्यक्ति के मन में सेक्स को लेकर हीन भावना हो तो शीघ्रपतन होता है |
  • पहली दूसरी बार सेक्स करते समय
  • सेक्स का अनुभव ना होने पर
  • अधिक जोश में होने पर
  • किसी तरह के तनाव या अवसाद में होने पर
  • सेक्स से पहले सेक्स के बारे में बहुत अधिक सोचने पर
  • अपने पार्टनर को संतुस्ट करने का डर होने पर
  • बहुत दिनों बाद सेक्स करने पर

शीघ्रपतन के शारीरिक कारण

  • लिंग की त्वचा के बहुत अधिक सवेदनशील होने पर
  • हार्मोनल इंबैलेंस होने पर
  • उच्च रक्तचाप वाले लोगों को
  • मूत्रमार्ग या प्रोस्टेट में संक्रमण होने पर
  • मधुमेह के मरीजों को
  • अनुवांशिक कारणों से
  • तंत्रिका तंत्र में समस्या होने पर

अगर आपके साथ भी शिघ्नपतन की समस्या है तो परेशान ना हो | आज हम आपको shighrapatan ka gharelu ilaj करने के लिए कुछ बेहद असरदार नुस्खों के बारे में बताने वाले है | तो बिना देर किये जानते है उन नुस्खों के बारे में |

शीघ्रपतन के इलाज का 100 % कारगर नुस्खा | 100% Effective Remedy Premature Ejaculation in Hindi

नुस्खे को बनाने के लिए जरुरी सामग्री –

  1. सफ़ेद मूसली
  2. अश्वगंधा
  3. कलोंजी
  4. मिश्री
  5. इलाइची

सफ़ेद मूसली दूर करेगी शिघ्नपतन की समस्या | Safed Musli se Thik Hoga Sheeghrpatan

सफ़ेद मूसली का नाम आते ही सबसे पहले मन में ये बात आती है की ये कहाँ  मिलेगी | और मिलेगी की भी नहीं | तो मैं आप को बता दू की यह आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर या पतंजलि स्टोर पर श्वेत मूसली के नाम से मिल जाएगी | इसके अलावा अगर आप चाहे तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है |

सफ़ेद मूसली अपने आप में एक कामोद्दीपक की  तरह है | यहाँ हमारे वीर्य यानि की स्पर्म को गाढ़ा करती है | और उसकी मात्रा में भी वृद्धि करती है | यह हमारे सेक्स टाइम में भी वृद्धि करती है | और उसके साथ साथ यह हमारे धैर्य यानि की होल्ड में भी वृद्धि करती है, जिससे की हम हमारे स्पर्म को ज्यादा देर तक रोक पाते है |

पुरुषो और महिला दोनों के लिए लाभकारी है अश्वगंधा | Ashvgandha se Sheeghrpatan ka Ilaj in Hindi

इसके बाद हमें चाहिए होगा अश्वगंधा | अश्वगंधा भी आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर पर आपको आसानी से मिल जायेगा या फिर पतंजलि के स्टोर पर मिल जायेगा | दोस्तों अश्वगंधा मर्दो के साथ साथ स्त्रियों के लिए भी बहुत लाभकारी होता है | इसका इस्तेमाल अनेक तरह की दवाइयों में भी किया जाता है | यह एक बहुत पुराणी जानीमानी औषधि है | इससे हमारा हार्मोनल बैलेंस बना रहता है | और अश्वगंधा के अंदर एंटी एजिंग इंग्रीडिएंस होते है जो हमे लम्बे समय तक जवान रखने में सहायक होते है |

कलोंजी, मिश्री और इलाइची तीनो ही लाभकारी है शिघ्नपतन में

इसके बाद हमें जरुरत होगी कलोंजी की | कलोंजी जिसे काले जीरे के नाम से जाना जाता है | इसके बाद हमें जरुरत होगी मिश्री और इलाइची की | मिश्री और इलाइची दोनों हमें पीसी हुई लेनी है | यह दोनों भी आपको किसी भी राशन की दुकान पर आसानी से मिल जाएगी | इसे भी पीसकर इनका पावडर बना ले | अब बरी आती है इसे मिलाने की | इसे मिलाने के लिए इनकी मात्रा का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है |

सफ़ेद मूसली , अश्वगंधा और मिश्री इन तीनो को समान मात्रा में मिलाना है | परन्तु जो कलोंजी और इलाइची का पावडर है उसे हमे केवल एक चौथाई मिलाना है | यानि की अगर हम अश्वगंधा, सफ़ेद मूसली और मिश्री 6-6 चम्मच लेते है तब हमें इलाइची के पावडर और कलोंजी को सिर्फ 1 चम्मच इस्तेमाल करना है | यानि की हमें 1 चम्मच ही इसमें मिक्स करना है | इसके बाद सारी चीजों को मिक्स करके इसका एक चूर्ण तैयार करना है | चाहे तो आप इस चूर्ण को किसी डिब्बे या जार में भरकर स्टोर भी कर सकते है |

इस्तेमाल करने का तरीका

इसका इस्तेमाल रोजाना हमें खाली पेट गुनगुने दूध के साथ करना है | आप इसका इस्तेमाल सुबह और शाम दोनों समय कर सकते है | सुबह जब हम इसका इस्तेमाल करते है तो हमे ध्यान देना है की हमें फ्रेश होने के बाद थोड़ी बहुत कसरत या मॉर्निंग वॉक के बाद इसका सेवन करें |

दोस्तों जब हम थोड़ी कसरत करते है तो हमारे शरीर की पाचन क्रिया मजबूत हो जाती है | उसके बाद जब हम किसी भी चीज का सेवन करते है तो हमारा शरीर उसे जल्दी पचा लेता है | और उस चीज का असर दुगुना हो जाता है | इसका सेवन आप शाम को भी कर सकते है |

शाम को अगर आप जिम जाते है तो जिम के बाद इसे ले सकते है | और अगर आप शाम को जिम नहीं भी जाते है तो भी आप शाम को खली पेट इसे ले सकते है |  सुबह के समय इसका सेवन करने के आधे घंटे बाद आप नाश्ता या खाना खा सकते है | और शाम को भी इसके सेवन करने के आधे घंटे बाद खाना खा सकते है |

अगर आप इस नुस्खे को 1 हफ्ते भी अपनाते है तो आप अपने आप में चमत्कारिक रूप से बदलाव देखेंगे | आप खुद में शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से बदलाव महसूस करेंगे | और अगर आप इसका इस्तेमाल थोड़े लम्बे समय के लिए करते है | तो शिघ्नपतन की जो आपकी समस्या है वो जड़ से ही गायब हो जाएगी | और जैसी सेक्स लाइफ आप चाह रहे थे वैसी ही सेक्स लाइफ आप पाने में कामयाब हो पाएंगे |

ये भी पढ़ें : नाईट फेल रोकने के उपाय

shighrapatan ke gharelu upay udad daal

शीघ्रपतन के आयुर्वेदिक उपाय है उड़द की दाल | Sheeghrapatan ka ilaj me Udad ki Daal

udad ki daal shighrapatan ke gharelu ilaj में बहुत ही लाभकारी नुस्खा है | यह बेहद आसान है इसके लिए आप धूलि हुई उड़द की दाल और पुराने चावल की खिचड़ी बना ले | और इसमें अच्छी तरह शुद्ध देसी घी मिला ले | अच्छी तरह मिला लेने के बाद रोजाना शाम को भोजन के समय आप इस खिचड़ी को खाये | अच्छे रिजल्ट के लिए कम से कम 40 दिन तक आपको रोजाना इस खिचड़ी को खाना है | लेकिन खिचड़ी खाते वक्त उसे चबा चबा कर खाना है | नहीं तो इसका पूरा फायदा आपको नहीं मिल पायेगा |

कई बार लोगों को लगता है की  खिचड़ी, दलिया, खीर, हलवा इन्हें चबाने की जरुरत क्या है और 2-4 बार चबा चबा कर सीधा निगल जाते है | लेकिन हम आपको बता दे की जब हम भोजन को चबाते है तो केवल हम उस भोजन को महीन ही नहीं करते बल्कि चबाने के दौरान मुंह में बनने वाली लार उसमें मिलती है जो की हमारे भोजन को जल्दी पचाने में मददगार होती है |

इसके साथ ही या तो खिचड़ी खाने के दौरान ही या इसे खाने के बाद मीठा दूध घूंट घूँटकर पियें | अगर आपकी पाचन शक्ति कमजोर है तो शुरआत में खिचड़ी कम मात्रा में खाये और धीरे धीरे इसकी मात्रा बढ़ा दे | shighrapatan ka desi ilaj me udad daal के इस नुस्खे को सबसे कारगर नुस्खा माना जाता है |

और पढ़े : पुरुषों की त्वचा को गोरा एवं चमकदार बनाने के उपाय

shighrapatan ke gharelu ilaj hai imli

शिघ्रपतन का इलाज करे इमली के बीज एवं मिश्री से | Sheeghrapatan ka ilaj me Imli ke Beej aur Mishri

imli ke beej aur mishri Sheeghrapatan ke gharelu nuskhe के लिए हमें जरुरत होगी | सबसे पहले इमली के बीजो को पानी में 2 से 3 घंटे के लिए भिगो दे | और फिर इसका छिलका उतार लें | और इसे छाया में सूखा ले | अब इस इमली को कूटकर और छानकर इसका चूर्ण बना ले | अब जितनी मात्रा में आपने इमली का चूर्ण लिया है उतनी ही मात्रा में उसमे मिश्री मिला ले |

अब इस चूर्ण को रोजाना चौथाई चम्मच  सुबह और शाम दूध के साथ ले | अगर आप पचास दिन तक इस नुस्खे को आजमाते है तो आपकी शिघ्नपतन की समस्या पूरी तरह दूर होगी | और आपकी पार्टनर आपके सहवास यानि की सेक्स करने से पूर्णतया संतुस्ट होगी |

और पढ़े : मर्दाना कमजोरी के कारण एवं उपाय

शीघ्रपतन का इलाज में लाभकारी है शतावरी का ये नुस्खा | Shatavri se Shighrskhalan ka ilaj

Sheeghrapatan ka ilaj me shatavari को भी बेहद फायदेमंद माना जाता है | इस नुस्खे को बनाने के लिए हमें शतावरी के साथ ही जरुरत होगी गोखरू के बीज और अश्वगंधा की | शतावरी ,अश्वगंधा और गोखरू तीनो की 100 100 ग्राम मात्रा लेकर इनको पीस लें और इनका चूरन बना लें | इस चूर्ण की रोजाना एक चम्मच शहद में मिलाकर खा लें |

इसका सेवन अगर आप रात के समय करते है तो यह अधिक लाभकारी होता है | रात को भोजन करने के 2 घंटे बाद आप इसका सेवन कर सकते है | इसके सेवन के बाद ऊपर से एक गिलास हल्का गुनगुना दूध पी लें | जिस दौरान आप इसका सेवन करें | उन दिनों में आपको खटाई का सेवन कम से कम करना चाहिए |

कस्तूरी से करें शीघ्र स्खलन का इलाज | Kasturi se Sheeghrapatan ka ilaj

शीघ्र स्खलन का इलाज में कस्तूरी का उपयोग भी काफी लाभकारी है | इस उपाय के लिए एक बर्तन में पानी लेकर उसमे कस्तूरी को उबालें | जब यह कस्तूरी थोड़ी सॉफ्ट हो जाये तब इसे निकलकर थोड़ी देर के लिए इसकी गर्मी को निकलने दें | इसकी गर्मी निकल जाने तक एक दूसरे बर्तन में दूध को उबालें |

दूध में उबाल आ जाने पर इसमें थोड़ा सा नमक थोड़ी सी काली मिर्च और मक्खन मिलाये | अब इस दूध में ठंडी हो चुकी कस्तूरी को पानी अलग करके इसे दूध में डालें | कस्तूरी को दूध में डालकर एक बार फिर उबालें | इसके बाद इसको ठंडा करके रोजाना इसका सेवन करें |

शीघ्रपतन का ईलाज करें कद्दू के बीजों से | Kaddu ke Beejo se Shighrapatan ka ilaj

शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए एक और बहुत ही लाभकारी उपाय है|Kaddu ke beejo se Sheeghrapatan ka ilaj पुराने समय से किया जाता रहा है| कद्दू के बीजो में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है जो की शरीर में मौजूद मेल हार्मोन टेस्टेस्टेरॉन को ब्लड सर्कुलेशन तक पहुंचाने में मदद करता है | इससे आपकी कमजोर इन्द्रिय मजबूत होती है और शीघ्रपतन की समस्या पूरी तरह दूर होती है |

इस उपाय के लिए कद्दू के बीजो को धुप में अच्छे से सूखा लें | अच्छे से सूखने के बाद इन बीजो को जैतून के तेल में अच्छे से भून लें | इसमें ऊपर से नमक और कालीमिर्च डालकर इनका सेवन करें | ये शीघ्रपतन के इलाज में बहुत लाभकारी उपाय है |

This image has an empty alt attribute; its file name is agani-saar-kriya-650x325.jpg


इस खास एक्सरसाइज से 7 दिन में दूर होगी आपकी शीघ्रपतन की समस्या

इसके अलावा एक और रामबाण इलाज है जो मैं आपको बताना चाहूंगा यह एक तरह की एक्सेर्साइज़ है जो आप किसी भी समय कर सकते है चाहे आप चेयर पर बैठे हो चाहे आप बिस्तर पर बैठे हो या चाहे आप जमीं में बैठे हो | यह जो एक्सेरसाइज है यह एक तरह का आसन  है | जो शिघ्नपतन की समस्या को ख़त्म करने का बहुत ही कामयाब तरीका है | इस आसान का नाम है मुलाबंध आसन |

इसको करने के लिए आपको कुछ भी नहीं करना है | जिस अवस्था में आप कुर्सी पर बैठते है या जमीं पर बैठते है उसी अवस्था में बैठकर आपको अपने पेट को अंदर खींचते हुए मतलब की अपने पेट को अंदर की और सिकोड़ते हुए अपने लिंग और गूदे दोनों को अंदर की तरफ खींचना है | इस तरह से खींचते हुए इसे जितनी देर आप अंदर रख सकते है रखना है और वापस पेट को बाहर  करते हुए बाहर छोड़ देना है | यह प्रक्रिया आपको 15 से 20 बार करनी है |

सुनने में यह जितनी आसान लगती है करने में यह उससे भी ज्यादा आसान है | कई बार हमें ऐसा महसूस होता है कली इस तरह के आसन से हमे कोई फायदा नहीं होगा | परन्तु दोस्तों अगर आप इस आसान को 7 दिन भी करते है तो आपको चमत्कारिक रूप से फर्क देखने को मिलेंगे | और जो शिघ्नपतन की आपकी समस्या है इसमें आपको काफी फायदा मिलेगा | इस आसान का परिणाम देखकर आप आश्चर्यचकित रह जायेंगे | क्युकी यह आसान सीधे असर करता है सीधे हमारे लिंग की मांसपेशियों पर |

इन उपायों के साथ कुछ बातों का ध्यान रखना भी है जरुरी

इन दोनों उपायों को आप यदि लगतार करते है तो इसका फायदा आपको 7 दिन में ही दिखने लग जायेगा | लेकिन साथ ही इस नुस्खे और एक्सरसाइज का फायदा आपको पूर्ण रूप से मिले इसके लिए आपको कुछ सावधानियों का भी ध्यान  रखना होगा | एक तो इस दौरान आपको सेक्स से पूर्ण तरह से दूर रहना है और दूसरा आपको शराब से पूरी तरह दूर रहना है | साथ ही इस दौरान धूम्रपान भी ना करें | अगर आप इन सभी बातो का ध्यान रखते है तो आपकी शिघ्नपतन की समस्या पूरी तरह से दूर होगी |

हम उम्मीद करते है की शीघ्रपतन का इलाज, लक्षण और कारण से सबंधित आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास Sheeghrapatan ka gharelu ilaj से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो कमेंट करे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here