क्या आपने कभी सोचा है की अगर महिलाये और बच्चे शिलाजीत का सेवन कर ले, तो इससे उनके स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ेगा | आपका भी और लोगो की तरह यही मानना होगा की पुरुषों में यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए शिलाजीत के फायदे बहुत अधिक है , और इसका सेवन महिलाओ और बच्चो को नहीं करना चाहिए |

लेकिन आपका यह ज्ञान अधूरा है और आज हम इस पोस्ट Shilajit in Hindi में शिलाजीत को लेकर बनाई गयी आपकी धारणाओं को तोड़ देंगे| साथ ही जानेगे शिलाजीत क्या है, शुद्ध शिलाजीत की पहचान , शिलाजीत के फायदे और शिलाजीत के उपयोग करने के सही तरिके के बारे में |

विषय सूची

शिलाजीत क्या है

हमारे देश में पुराने समय से ही बड़ी से बड़ी बीमारी और असाध्य रोगो को प्राकृतक जड़ी बूटियों के द्वारा  ठीक किया जाता रहा है | हमारे ऋषि महर्षियो ने रोगो पर रिसर्च करके इन जड़ी बूटियों के इस्तेमाल का सही तरीका आयुर्वेद में बताया गया है | इन सभी जड़ी बूटियों में से एक जड़ी बूटी ऐसी है, जिसका सबसे चमत्कारिक प्रभाव देखने को मिलता है| जिसका नाम है शिलाजीत |

शिलाजीत का नाम आते ही,  ज्यादातर लोगो के दिमाग में आता है, की यह मर्दाना कमजोरी की दवा और ताकत बढ़ाने वाली जड़ी बूटी है | आपका यह सोचना सही है, लेकिन यह शिलाजीत का केवल एक फायदा है जो आप लोगो को पता है |

शिलाजीत के फायदे इतने अधिक है की इसे कई तरह की बीमारियों को ठीक करने में काम में लिया जाता है | दरअसल शिलाजीत में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है,जिनसे उन बीमारियों को भी पूरी तरह ठीक किया जा सकता है, जिनका आज के समय में मेडिकल साइंस में भी  कोई इलाज नहीं है |

शिलाजीत का अर्थ

शिलाजीत को हिंदी में में शिलाजीत ही कहते है | संस्कृत में इसे शीलकुसुम, शैलेज और शैलेय कहते है | shilajit meaning in english is mumijo . फारसी में शिलाजीत को मोमिआइ कहा जाता है |

शिलाजीत के फायदे

शिलाजीत का असर शरीर पर पहले दिन से ही होने लग जाता है | आइये जानते है की जब आप इसका सेवन करने लगेंगे तो इससे आपके शरीर को क्या क्या शिलाजीत के फायदे होंगे | शिलाजीत हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है | इसमें कैल्शियम मैग्नेशियम निकल और स्ट्रोंटियम पाया जाता है |

हड्डियों के लिए शिलाजीत के फायदे

यह हमारी हड्डियों की कमजोरी को दूर करके अर्थराइटिस और आस्ट्रियोप्रोसिस जैसी बीमारियों में राहत प्रदान करता है | शिलाजीत का सेवन करने से हमारे शरीर के जख्मो को भरने की क्षमता बढ़ती है | इसमें मौजूद विटामिन बी , कॉपर और फुलविक एसिड हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता  है |

जिससे बीमारिया और बुखार जैसी चीजे हमारे शरीर में आम लोगों के मुकाबले ज्यादा जल्दी ठीक होने लगती है |

ये भी पढ़ें : अर्थराइटिस का इलाज है ये चमत्कारिक बाम

शिलाजीत का प्रयोग करे स्टेमिना बढ़ने के लिए

शिलाजीत हमारे शरीर के लिए एक नेचुरल एनजाइजर है स्टेमिना बढ़ाने के लिए शिलाजीत के फायदे बहुत अधिक है | अपनी  स्टेमिना को बढ़ाने के लिए मिलेट्री, ओलंपिक्स और स्पोर्ट्स से जुड़े लोग भी इसका इस्तेमाल करते है | इसे वर्कआउट से पहले स्ट्रेंथ के लिए और वर्कआउट के बाद रिकेवरी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है |

शिलाजीत खाने के फायदे है डाइबिटीज में राहत

शुगर कम करने के उपाय में शिलाजीत का उपयोग बहुत अधिक है| इसके अंदर मैग्नीशियम पाया जाता है जो की शरीर में गलूकोज की मात्रा को नियंत्रित करता है | जिससे की डाइबिटीज की समस्या में बेहद फायदा मिला है | साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को दूर कर नसों में आयी ब्लॉकेज को भी दूर करता है |

यौन शक्ति बढ़ाने के लिए शिलाजीत के लाभ

शिलाजीत में आइरन की मात्रा अधिक होती है जिसकी वजह से शरीर में ऑक्सीजन का संचार तेजी से होता है और शरीर में ताजगी बनी रहती है | सेक्सुअल प्रोब्लेम्स में शिलाजीत के फायदे सबसे अधिक होते है|

इसके सेवन से शरीर में  सेक्सुअल हार्मोन्स एस्ट्रोजन, टेस्टस्टेरॉन और एंड्रोजन पर पर भी प्रभाव पड़ता है जिसके कारन शरीर में आयी नपुसंकता, स्वप्नदोष, शीघ्र स्खलन का इलाज और महिलाओ और पुरुषो से जुडी हर तरह की बीमारी भी इसके सेवन से पूरी तरह ठीक हो जाती है | इसके अलावा अगर पढाई में दिमाग नहीं लगता हो या दिमाग अस्थिर रहता हो उसमे भी शिलाजीत के सेवन से तेजी से फायदा मिलता है |

महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे

इसके अलावा महिलाओ में  इनफर्टिलिटी यानि की बांझपन उपचार में शिलाजीत के लाभ बहुत अधिक है| और साथ ही मासिक धर्म की कई तरह की समस्याओ जैसे अनियमित मासिक धर्म , पीरियड(मासिक धर्म) के समय अधिक और कम ब्लेडिंग होना , मासिक धर्म के समय दर्द , पीरियड के दौरान कमजोरी जैसी समस्याए भी इसके सेवन करने से दूर होती है |

शिलाजीत खाने के फायदे से होगा डिप्रेसन दूर

साथ ही जिन लोगो को डिप्रेसन की शिकायत है और हमेशा दिमाग में टेंसन रहती हो ऐसे लोगो को भी टेंशन और डिप्रेशन दूर करने के उपाय के रूप में शिलाजीत लाभकारी रहता है और इसके सेवन से दिमाग को शांति मिलती है | शिलाजीत हमारे शरीर पर होने वाले बढ़ती  उम्र के प्रभाव को भी कम करता है यह हमारी त्वचा को पोषण प्रदान करता है जिससे डेड स्किन झुर्रिया दूर होती है और चेहरे पर ग्लो बना रहता है |

लम्बे बालो के लिए शिलाजीत है लाभकारी

शिलाजीत में बहुत से ऐसे मिनिरल्स होते है जिनमें से ज़िंक, मैग्नीशियम, विटामिन्स आइरन और फुलविक एसिड हमारे बालों के लिए बहुत ही लाभकारी होते है | हमारे वातावरण के विषैले तत्वों और भारी धातुई कणो के कारण हमारे रोम कोशिकाएं कमजोर होकर नष्ट होने लगती है | जिसके कारण बाल तेजी से झड़ने लगते है |

शिलाजीत में फुलविक एसिड होता है जो की इन विषैले तत्वों और भारी धातुई कणो को पिघलाकर दूर करता है | साथ ही फुलविक एसिड हमारी कोशिकाओं की दीवारों को लचीला बनाता है | जिससे की भोजन के पोषक तत्व ये कोशिकायें गहराई तक अवशोषित कर सके| इसलिए फुलविक एसिड के कारण शिलाजीत के फायदे बालों के लिए बहुत अधिक होते है |

बालों की अच्छी ग्रोथ के शिलाजीत के लाभ

पुराने समय से ही बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए घरेलू नुस्खों के रूप में प्याज और लहसुन का उपयोग किया जाता रहा है | प्याज और लहसुन में सल्फर पाया जाता है जो की बालों के लिए फायदेमंद होता है | शिलाजीत में भी सल्फर की अच्छी मात्रा होती है | और इसके सेवन से यह अंदरूनी तौर पर सल्फर की आपूर्ति करता है जो की हमारे बालों की ग्रोथ के लिए फायदेमंद होती है |

नए बालों के बढ़ने के लिए शिलाजीत

जिन लोगों में जिंक की कमी होती है उनमें प्रोटीन सरंचना की कमी पायी जाती है | और प्रोटीन संरचना की कमी से बालों की कोशिकाएँ कमजोर होने से बालों के फॉलिकल्स में बालों की कमी, बालों का नस्ट होना और नए बालों का उत्पादन बंद हो जाता है | इसलिए बालों की अच्छी वृद्धि के लिए शरीर में प्रोटीन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के जिंक का होना जरुरी है |

मजबूत बालों के लिए शिलाजीत है लाभकारी

शिलाजीत में अच्छी मात्रा में आइरन पाया जाता है | आइरन हमारे रक्त में हीमोग्लोबिन को बढ़ाता है | और हीमोग्लोबिन शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन को पहुंचाने का काम करता है | ऑक्सीजन हमारे शरीर के बॉडी सेल्स की मरम्मत और निर्माण का काम करती है |

इनमें हमारे बालों के सेल्स यानि की कोशिकायें भी शामिल होती है | इसलिए शिलाजीत के सेवन से हमारे शरीर में आइरन के रूप में प्राप्त पोषक तत्व बालों को मजबूत बनाते है |

शिलाजीत से होगी डेड स्किन रिमूव

हमारी त्वचा ही है जो की बाहरी दुनिया से पुरे समय संपर्क में रहती है और इस पर ही वातावरण आदि का सबसे पहले प्रभाव पड़ता है | हमारी त्वचा की बाहरी परत एपिडर्मिस कहलाती है | जिसके द्वारा हम छूकर महसूस कर सकते है और बाहरी दुनिया को जान पाते है| एपिडर्मिस के भीतर 4 तरह की कोशिकाएं होती है केरेटिनोसाइट्स, मेलैनोसाइट्स, मर्केल और लैंगरहेंस |

हमारी त्वचा में 95% हिस्सा केरोटिनोसाइट्स का होता है | इनसे केरोटीन नाम के प्रोटीन का उत्पादन होता है | त्वचा में केरोटिनोसाइट्स कोशिकाएं मृत भी होती रहती है | शिलाजीत में केरोटिनोइड होता है जो की त्वचा की इन मृत कोशिकाओं को हटाने का काम करता है | जिससे की नयी कोशिकाएं सही रूप से बढ़ सके |

शिलाजीत से त्वचा बनती है लचकदार और कोमल

इसके अलावा त्वचा की कोशिकाओं में लोच बनी रहे इसका काम फाइब्रिलर कोलेजन प्रोटीन करता है | शिलाजीत में जिंक, सल्फर, कॉपर और प्रोटीन पाया जाता है जो की शरीर में फाइब्रिलर कोलेजन प्रोटीन के निर्माण में मदद करता है |

शिलाजीत से त्वचा की प्रतिरक्षा प्रणाली बनती है मजबूत

त्वचा में मौजूद लैंगरहेंस कोशिकायें हमारी त्वचा की प्रतिरक्षण प्रणाली को मजबूत करती है | हमारी त्वचा पर हमेशा बैक्टीरिया और अन्य तरह के तत्व लगातार हमारी एपिडर्मिस यानि की बाहरी त्वचा पर प्रहार करते रहते है| शिलाजीत में अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जिससे हमारी त्वचा की लैंगरहेंस कोशिकाओं मजबूत बनती है और इन हानिकारक बैक्टीरिया से हमारी रक्षा करती है इसलिए शिलाजीत के लाभ हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बहुत अधिक है |


महिलाओं, बच्चों, एवं बूढ़ों के लिए शिलाजीत के गुण एवं उपयोग

शिलाजीत के बारे में कहा जाता है की इसके सेवन से बूढ़े लोगो में भी जवानी आ जाती है | शिलाजीत में 85 तरह के नूट्रिएंट होते है जिसके कारन इसमें एनर्जी और ताकत बढ़ाने की अद्भुत क्षमता होती है | अगर आप सभी तरह के हेल्थ टॉनिक लेकर कोई फायदा महसूस नहीं कर पा रहे है तो आप शिलाजीत का सेवन करें |

शिलाजीत के फायदे किसी भी हेल्थ टॉनिक से कई गुना अधिक है | साथ ही ऐसा भी नहीं है की इसका इस्तेमाल केवल पुरुष कर सकते है | बल्कि बच्चो से लेकर महिलाये और बूढ़े लोग तक हर कोई इसका सेवन कर सकता है और इसके चमत्कारिक लाभों को प्राप्त कर सकता है |

किन किन बिमारियों के लिए है शिलाजीत के लाभ |

शिलाजीत को पहाड़ो का पसीना कहा जाता है | यह हिमालय , गिलगित और बाल्टिस्तान की पहाड़ियों में पाया जाने वाला गहरे भूरे और काले  रंग का एक लिसलिसा पदार्थ होता है | गर्मियों के मौसम में सूर्य की गर्मी से जब पहाड़ का धातु पिघल कर रिसने लगता है यह पदार्थ शिलाजीत होता है | शिलाजीत में फुलविक एसिड पाया जाता है जो हमारी ताकत बढ़ाने वाला और कई रोगो को दूर करने वाला होता है |

फुलविक एसिड हमारे सेल्युलर मेमरेंस के द्वारा आसानी से निकल जाता है जिसके कारन इसका हमारे शरीर पर प्रभाव बहुत तेजी से होता है | शिलाजीत के फायदे आलस या थकान की समस्या को दूर करने में बहुत अधिक लाभकारी है | इसके अलावा मोटापे, सोराइसिस, एक्जिमा, दाग, अल्जाइमर जैसी बीमारियों भी इसके सेवन से तेजी से ठीक होने लगती है |

ये भी पढ़ें : मर्दाना ताकत बढ़ाने के उपाय

अलग अलग उम्र के लोगो को शिलाजीत का सेवन किस तरह करना चाहिए इसे कितनी मात्रा में और किस समय खाना चाहिए अलग अलग बीमारियों तथा महिलाओ और पुरुषो की सेहत से जुडी किन किन समस्याओं को शिलाजीत की मदद से पूरी तरह ठीक किया जा सकता है|

आज की इस पोस्ट में हम शिलाजीत का सेवन कैसे करे एवं shilajit ke fayde क्या क्या है इन सभी बातो पर चर्चा करेंगे | लेकिन इससे पहले हम यह जानेंगे की शिलाजीत कैसे बनाया जाता है | इसमें क्या क्या होता है और इसका सेवन हमारे लिए कितना सुरक्षित है |

कैसे बनता है शिलाजीत |

जिस तरह  पेड़ो से हमें गोंद प्राप्त होता है उसी तरह शिलाजीत पहाड़ो से निकलने वाला एक तरह का गोंद या टार है | इसके अंदर पहाड़ो की चट्टानों और पेड़ पौधों में पाए जाने वाले प्राकृतिक खनिज लवण पाए जाते है |

यह खासकर तिब्बत और हिमालय की  चट्टानों में ज्यादा मात्रा में पाया जाता है | चट्टानों से प्राकृतक शिलाजीत निकालने के बाद इसकी सारी गंदगी को फ़िल्टर करके निकाल दिया जाता है | और फिर इसे इसी तरह कच्चा और जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर पैक करके बाजार में बेचा जाता है |

हिमालय की ऊंचाइयों पर पर्वतो से निकलने वाला शिलाजीत ही सबसे असरदार माना जाता है | आयुर्वेद के हिसाब से हमारे शरीर में 7 अलग अलग तरह के धातु पाए जाते है | रस, रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा, और शुक्र शिलाजीत एक मात्र ऐसी चीज है जिनका इन सभी तरह की धातुओं पर तेजी से असर होता है | आइये जानते है शिलाजीत के आश्चर्जनक फायदों और इसके इस्तेमाल के  सही तरीकों के बारे में |

सही तरीके से शिलाजीत का उपयोग कैसे करे

बाजार में शिलाजीत 3 अलग अलग रूप में मिलता है |  liqvid, सॉलिड और कैप्सूल | केप्सूल का इस्तेमाल ना करे, क्युकी इसमें यह पावडर के रूप में  होता है और साथ ही इसमें मिलावट होने की सम्भावना भी ज्यादा होती है |

कोशिश करें की गाढ़े लिक्विड  के रूप में मिलने वाले शीलजीत का ही इस्तेमाल करें | शिलाजीत के फायदे पाने के लिए एक एडल्ट व्यक्ति एक बार में 150 से 250 ml शिलाजीत का सेवन कर सकता है | और इसे एक दिन में करीबन 600 mg  से ज्यादा नहीं लेना चाहिए |

लिक्विड का सेवन करने के लिए एक चम्मच के उलटे हिस्से को आधा इंच गहराई तक शिलाजीत के लिक्विड में डूबा कर बाहर निकाल ले | जितना शिलाजीत चम्मच पर चिपक जायेगा उतना शीलाजीत  एक बार के इस्तेमाल के लिए काफी होता है | इसे गुनगुने पानी या दूध के साथ मिलाकर पीया जा सकता है |

सॉलिड शिलाजीत का सेवन करने के लिए इसका चाकू या चम्मच की सहायता से थोड़ा हिस्सा काटकर चावल से थोड़े से बड़े आकार की गोली बना ले | शिलाजीत को फ्रिज में ना रखें | क्युकी फ्रिज में यह जमकर सख्त हो जाता है |

 और फिर इसका इस्तेमाल करना मुश्किल बन जाता है | शिलाजीत की तैयार इस गोली का पानी या दूध के साथ निगलकर भी सेवन किया जा सकता है | या फिर दूध या पानी में घोलकर भी पिया जा सकता है |

सख्त होने के बावजूद भी यह पानी में आसानी से घुल जाता है | इसका सेवन दिन में आधे घंटे नाश्ते से पहले करना सबसे बेहतर माना जाता है | क्युकी खाने के बाद  भोजन के साथ मिल जाने पर इसका असर कम हो जाता है | इसलिए हमेशा इसका खाने से पहले ही सेवन कर ले |

18 साल से कम उम्र के बच्चो को शिलाजीत देते समय उसकी मात्रा को आधी कर देना चाहिए | शिलाजीत का सेवन साफ़ और उबले पानी के साथ करना चाहिए |

ये भी पढ़ें : अश्वगंधा के फायदे नुकसान और सेवन का तरीका

किन किन लोगो को शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए |

ये तो आप जान ही चुके है की शिलाजीत का उपयोग कैसे करे (shilajit ka upyog kaise kare)और कितना करना चाहिए | अब जानते है की शिलाजीत का सेवन कीन्हे नहीं करना चाहिए | जिन लोगो को गंभीर दिल की बीमारी या हाई ब्लड प्रेशर है उन लोगो का इसे  सेवन नहीं करना चाहिए |

इसके अलावा एनीमिया, थैलीसीमिया, एसिडिटी, हाई ब्लड प्रेशर और पाईल्स के रोगियों को भी शिलाजीत के सेवन से बचना चाहिए साथ ही 12 साल से कम उम्र के बच्चो और गर्भवती महिलाओ को भी शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए |

जो लोग हार्मोन्स को बढ़ाने या घटाने की दवाई ले रहे हो उन्हें भी शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए | बुखार और इन्फेक्शन के समय भी शिलाजित का सेवन वर्जित माना गया है | शिलाजीत गर्म होता है इसलिए कोसिस करे की सर्दियों के मौसम में ही इसका सेवन करें |

शिलाजीत एक पावरफुल औषधि है, इसलिए इसका 3 महीने से ज्यादा इस्तेमाल ना करें | 3 महीने के बाद 1 महीने का ब्रेक लेकर इसका दुबारा इस्तेमाल किया जा सकता है | यह आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर या पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जायगा | और अगर आप चाहे तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है |

असली शुद्ध शिलाजीत की पहचान कैसे करें

शिलाजीत के फायदे (shilajit ke fayde) पूरी तरह आपके शरीर को मिले इसके लिए शिलाजीत का शुद्ध होना जरुरी है | असली शिलाजीत घुलनशील होता है और अगर इसे गरम पानी में मिलाएंगे तो यह थोड़ी देर में उसमें मिल जायेगा | लेकिन अगर यह अशुद्ध और मिलावटी होगा तो इसकी गंदगी और अशुद्धि पानी के तल में बैठ जाएगी |

इसके अलावा शुद्ध शिलाजीत को अगर आग में लेकर जाओगे तो यह जलता नहीं है और इसमें बुलबले से निकलने लगेंगे जबकि अगर यह नकली होगा तो यह आग पकड़ लेगा | शुद्ध शिलाजीत का धातु टेस्ट भी कर सकते है |

शुद्ध शिलाजीत की पहचान के लिए 1 चम्मच शिलाजीत को दो बून्द मरकरी और 1 चम्मच पानी डाल कर मिलाएं | अगर शिलाजीत असली होगा तो यह मरकरी को अवशोषित कर लेगा | इसके साथ ही शुद्ध शिलाजीत शराब या अल्कोहल में नहीं घुल पाता है |

शिलाजीत के नुकसान

अगर संतुलित मात्रा में शिलाजीत का सेवन किया जाये तो इसका किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है | क्योंकि इसकी बहुत कम मात्रा ही प्रभावकारी होती है थोड़ी सी मात्रा बढ़ा देने पर इसका नुकसान स्वास्थ्य के लिए हो सकता है | साथ ही 12 साल से कम उम्र के बच्चे और 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को इसका सेवन नहीं करना चाहिए |

कभी भी बिना फ़िल्टर किये गए शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए | क्योकि कच्चे शिलाजीत में भारी धातुई कण, फ्री रेडिकल्स, फंगस और अन्य तरह की दूषित तत्व हो सकते है जो की स्वास्थ्य के लिए हानि पहुंचा सकते है | इसलिए शिलाजीत के सेवन से पहले यह जाँच ले की वह फिल्टर हो और शुद्ध हो |

अगर आपको किसी तरह की एलर्जी है या एनीमिया जैसी बीमारी है तो इसका सेवन नहीं करना चाहिए | जिन लोगो को हेमोक्रोमैटोसिस की बीमारी है उन्हें भी शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए | इस बीमारी में रक्त में आइरन की मात्रा बहुत बढ़ जाती है | ऐसे में शिलाजीत के सेवन से शरीर में और अधिक आयरन बढ़ सकता है | जो की स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक नुकसानदायक हो सकता है |

FAQ : shilajit se jude kuch jaruri sawal |

Q .1 शिलाजीत कब खाना चाहिए ?
Answer : सुबह नाश्ते से पहले शिलाजीत का सेवन करना चाहिए |

Q .2 शिलाजीत का उपयोग कैसे करें ?
Answer : एक सामान्य व्यक्ति एक दिन में 150 से 250 ml शिलाजीत का सेवन कर सकता है | इसका सेवन दूध या पानी के साथ कर सकते है | 12 साल से कम उम्र के बच्चो को इसका सेवन नहीं करना चाहिए | 12 साल से 20 साल तक के बच्चो को सामान्य की तुलना में आधी मात्रा में शिलाजीत का सेवन करना चाहिए |

Q .3 शिलाजीत के फायदे क्या है ?
Answer : शिलाजीत के सेवन से तुरंत ऊर्जा मिलती है शरीर की थकान दूर आती है और एनेर्जी मिलती है | इसके अलावा सोराइसिस,एनीमिया, एग्जिमा, डाइबिटीजजैसी बीमारियों में लाभकारी होती है |

Q .4 असली शुद्ध शिलाजीत की पहचान क्या है ?
Answer : असली शिलाजीत हिमालय और तिब्बत की पहाड़ियों की चट्टान में पाया जाता है | इन चट्टानों में ये एक काले टार के रूप में जमा होता है | वह से इकठ्ठा करके इसके शुद्ध किया जाता है और बाजार में बेचा जाता है | आज के समय डाबर, पतंजलि के अलावा और भी कई ब्रांड के शिलाजीत बाजार में मौजूद होता है |

Q .5 शिलाजीत की पहचान क्या है ?
Answer : शुद्ध शिलाजीत की पहचान ये है की वह पानी में घुल जाता है जबकि अशुद्ध शिलाजीत पानी में नहीं घुल पाता है और वह पानी की तलहटी में बैठ जाता है | शुद्ध शिलाजीत आग में जलता नहीं है और उसमे से बुलबुले निकलते है | शुद्ध शिलाजीत एल्कोहल और शराब में नहीं घुलता है

Q .6 शिलाजीत के नुकसान क्या है ?
Answer : अधिक मात्रा में शिलाजीत का सेवन नुकसानदायक होता है, इसके अलावा थेलिसिमिया मोटापा अल्जाइमर और दाग के मरीजों को शिलाजीत का सेवन करना चाहिए |

Q .7 shilajit price in hindi?
Answer : Bajar me milne wali shilajit ki kimat alag alag hai | iski kimat iski shuddhta par nirbhar karti hai | bajar me 1mg ki kimat 200 rupye se lekar 800 rupye tk hai |

हम उम्मीद करते है शिलाजीत क्या है, शिलाजीत के फायदे , सेवन का तरीका , सेवन का सही समय , शुद्ध शिलाजीत की पहचान से सबंधित आज की यह जानकारी आपके जीवन में बहुत लाभकारी होगी |

4 COMMENTS

  1. आपने बहोत ही बडीया article लिखा है ,बहोत बारिकीसे आपणे हर बात लिखी है |

  2. आप कई अच्छे ब्रांड के शिलाजीत बाजार से खरीद सकते है , या फिर आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here