आज के समय थाइरोइड सबसे तेजी से बढ़ती गंभीर बीमारियों में से एक है | आज के लेख में हम आपको थाइरोइड के लक्षण ( Thyroid symptoms in hindi ) और थाइरोइड का इलाज ( Thyoroid Treatment in Hindi ) के साथ ही इसमें रखी जाने वाली सावधानियां और परहेज के बारे में जानेंगें | साथ ही आपको अपने भोजन में कुछ ऐसी चीजों को शामिल करना होगा | एक अच्छा डाइट प्लान बनाकर जंहा आप अपना वजन तो घटा पाएंगे ही साथ ही थाइरोइड की समस्या को पूरी तरह ख़त्म कर पाएंगे |

विषय सूची

थाइरोइड क्या है | What is Thyroid in Hindi

थाइरोइड एक ग्रंथि होती है जो की हमारे गले में सामने की और होती है | यह ग्रंथि हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करती है | यानि की यह ग्रंथि हम जो भोजन करते है उसको ऊर्जा में बदलने का काम करती है | हमारी यह ग्रंथि दो तरह के हार्मोन टी 3 जिसे ट्राई आयडो थायरोनिन कहते है और टी 4 जिसे थाइरॉक्सिन कहते है बनाती है | जब थाइराइड ग्रंथि से निकलने वाले दोनों हार्मोन असंतुलित हो जाते है तो शरीर में थाइरोइड की प्रॉब्लम हो जाती है |

थाइरोइड को हिंदी में क्या कहते है | Meaning of Thyroid in Hindi

Thyroid को हिंदी में थाइरोइड ही कहते है |

थायराइड के प्रकार | Thyroid Types in Hindi

थाइरोइड की प्रॉब्लम तब होती है जब थाइराइड ग्लेंड यानि की थाइरोइड की ग्रंथि हमारे शरीर में थाइराइड हार्मोन्स को कम या ज्यादा भेजने लग जाये | थाइरोइड मुख्यतः 2 प्रकार के होते है | Hyparthyrodism और Hypothyroidism |

थाइराइड हार्मोन्स की कमी होने पर हमारे शरीर में थाइरोइड ग्रंथि की कार्यकरने की क्षमता कमजोर होने लगती है इसे हाइपोथाइरॉइडज्म कहा जाता है | इस बीमारी में शरीर का वजन और मोटापा तेजी से बढ़ने लगता है |

थाइरोइड के लक्षण | Thyroid symptoms in Hindi

किसी भी बीमारी के होने पर हमारा शरीर उस बीमारी के संकेत देने लगता है | थाइरोइड के लक्षण समझकर हम थाइरोइड का इलाज समय पर कर सकते है | तो आइये जानते है क्या है थाइरोइड के लक्षण |

  • शरीर में कमजोरी आना |
  • पेट में कब्ज होना
  • जल्दी थक जाना
  • ब्लड प्रेशर का बढ़ना
  • जोड़ो में दर्द होना
  • बालों का कमजोर होकर झड़ना
  • त्वचा का रुखा होना
  • तनाव और अवसाद होना
  • अधिक सर्दी लगना

थाइरोइड के कारन | Thyroid Causes in Hindi

  • परिवार में पहले किसी को थाइरोइड हो तो थाइरोइड होने की सम्भावना बढ़ जाती है |
  • डाइबिटीज होने पर थाइरोइड का खतरा बढ़ जाता है |
  • शरीर में thyroid harmon बनाने में आयोडीन बहुत महत्वपूर्ण होता है और इसकी कमी से शरीर में हाइपोथयरॉडिज़्म का खतरा बढ़ जाता है |
  • थाइरोइड ग्रंथि के कम सक्रीय हो जाने पर
  • वजन बढ़ने से
  • मैदा और अधिक तेल वसा युक्त भोजन करने से
  • हाइपरथायरॉडिज़्म की दवाइयों के प्रभाव से ही हाइपोथयरॉडिज़्म का खतरा बढ़ जाता है |

ऐसे में हमे संतुलित आहार करना चाहिए | कुछ चीजे ऐसे होती है जीने खाने से बचाना चाहिए क्युकी उनके खाने से शरीर में यह बीमारी और भी तेजी से बढ़कर और भी गंभीर रूप ले सकती है |  

thyroid se bachne ke upay

थाइरोइड के घरेलू उपचार के लिए करे सलाद का उपयोग | Thyroid Treatment in Hindi

thyroid se bachne ke upay के लिए सलाद का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है | अच्छे परिणाम पाने के लिए थाइराइड में लिए जाने वाले भोजन में 30 % सलाद , 30 % उबला हुआ खाना और 40 % मुख्य भोजन इस अनुपात में अगर खाना खाया जाये तो थाइराइड को आसानी से कंट्रोल में  रखा जा सकता है |

सलाद के लिए प्याज खीरा गाजर और स्प्राउट का सेवन करना फायदेमंद होता है | प्याज हमारे खून है, गाजर में ज़िंक और विटामिन ए पाया जाता है | जो की थाइराइड की लिए बहुत अच्छा होता है | इसके लिए गाजर का सेवन जरूर करना चाहिए |

थाइरोइड के इलाज में अंकुरित आहार | Thyroid Diet in Hindi

इसके अलावा thyroid ko rokne ke upay के लिए स्प्राउट यानि की अंकुरित आहार जैसे चने और दालो का इस्तेमाल कर सकते है | सलाद और अंकुरित आहार खाने से यह हमें ताकत प्रदान करता है जिससे हमें दिन भर में कम थकान होती है| लेकिन स्प्राउट्स को कच्चा ना खाये |

खाने से पहले उन्हें गरम पानी में बॉईल कर ले उसके अलावा आप उबले हुए भोजन के लिए आप आलू का इस्तेमाल कर सकते है | आलू को अगर उबाल लिया जाये तो यह मोटापा नहीं करता है और इसमें पोटेशियम की मात्रा अच्छी होती है जिससे हमारे शरीर का मेटाबोलिजम अच्छा होता है |

ये भी पढ़ें : आँख की रोशनी बढाने का उपाय

thyroid ka gharelu upay in hindi

थाइरोइड का आयुर्वेदिक इलाज के लिए करे फलीदार सब्जियों का सेवन | Home Remedies for Thyroid in Hindi

इसके अलावा thyroid ka gharelu upay के लिए शकरकंद यानि की स्वीट पोटेटो और ग्वार फली को भी उबाल कर खाया जा सकता है | इसके अलावा दिन के मुख्य भोजन में ज्यादा से ज्यादा फलीदार सब्जियों का इस्तेमाल करें | फली वाली सब्जियों में ज़िंक और आइरन की मात्रा अधिक होती है  और इसमें प्रोटीन के साथ साथ सिलीनियम भी अधिक होता है जो की थाइराइड के लिए एक बहुत ही जरुरी पोषक तत्व है |

इसके अलावा ब्राउन राईस और दालों का भी इस्तेमाल कर सकते है | इससे भी हमारे शरीर को अच्छी मात्रा में प्रोटीन मिलता है और हमारी चर्बी भी नहीं बढ़ती है |  इससे हमारा शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है |

dahi se thyroid ke gharelu upchar

थाइरोइड का उपचार करने में दही होता है फायदेमंद | Thyroid Problem Solution in Ayurveda in Hindi

इसके अलावा आयर्वेद में thyroid ke gharelu nuskhe के लिए दही का इस्तेमाल असरकारक बताया है | 1 कप या 1 कटोरी दही में 88 माइक्रोग्राम आयोडीन  होता है जो की थाइराइड की बीमारी में जरुरी आयोडीन की जरुरत  को अच्छे से पूरा करता है |

साथ ही दूध और दही दोनों में सिलेनियम, प्रोटीन और विटामिन भी पाया जाता है जो हमारे शरीर में थाइराइड के हार्मोन्स की वृद्धि करता है| इस लिए रोजाना सुबह या शाम 1 गिलास दूध, और 1 से 2 कटोरी दही का सेवन जरूर करना चाहिए |

thyroid ka ayrvedic upchar fish aur ande se

थाइरोइड रोग का उपचार है मछली और अंडा | How to Control Thyroid in Hindi

अगर आप नॉनवेज खा सकते है तो thyroid ka ayurvedic upchar में फिश यानि की मछली का सेवन सबसे ज्यादा होता है | और डॉक्टर भी इसकी सलाह देते है क्योकि फिश में ओमेगा फैटी 3 एसिड और सिरेनियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है | जो की थाइराइड के लिए सबसे जरुरी पोषक तत्व होता है |

इसके अलावा अंडे का भी सेवन किया जा सकता है | अंडे में विटामिन बी और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है | जो की हमारे शरीर में हार्मोन्स को बनाये रखने में मदद करती है | इसलिए डिनर या लंच में फिश या अंडा जरूर खाना चाहिए |

इसके अलावा थाइराइड में विटामिन बी के साथ विटामिन डी भी जरुरी होता है | इसके लिए मशरूम का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है | मशरूम में प्रचुर मात्रा में विटामिन डी और आयोडीन पाया जाता है | और साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट तत्व हमारी थाइराइड की ग्रंथि के लिए बहुत लाभकारी होते है| इसलिए मशरूम का सेवन भी जरूर करना चाहिए |

thyroid ki bimari ka ilaj dry fruit se

थाइराइड कम करने के घरेलु उपाय है ड्राईफ्रुइट्स | Dry fruits Thyroid Solution in Hindi

इसके अलावा thyroid ki bimari ka ilaj करने में ड्राई फ्रूट का इस्तेमाल भी जरूर करना चाहिए | ड्राईफ्रूट में अखरोट का इस्तेमाल सबसे अच्छा होता है | अखरोट हमारे दिमाग की सेहत को अच्छे बनाये रखता है जिसकी वजह से टेंसन और स्ट्रेस का लेवल भी काम होता है | और इस कारन हमारे थाइराइड की ग्रंथि अच्छी तरह काम करती है |

थायराइड में करें फलों का सेवन | Fruits for Thyroid in Hindi

hypothairaid  में फलो का सेवन भी अधिक करना चाहिए | सेब पाइनेपल, खरबूज, अनार का रोजाना सेवन करना बहुत फायदेमंद सिद्ध होता है | खरबूज में अधिक मात्रा में पोटेशियम होता है | जो की हमारे मेताओबलिजम में तेजी से इम्प्रूवमेंट लाता है |इसके अलावा अनार में विटामिन A,B,C पाया जाता है| साथ ही इसके अंदर एंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज थाइराइड में बहुत ज्यादा लाभकारी होती है |  इसलिए सुबह और शाम अनार और खरबूज का सेवन जरूर करें |

थाइरोइड में फलों का जूस है फायदेमंद | Fruit Juice for Thyroid in Hindi

इसके अलावा जूस पीना भी थाइराइड में बहुत फायदेमंद होता है | ऑरेंज अंगूर पाइनेपल और गाजर का जूस जिन लोगो के थाइराइड है उन्हें दिन में कम से कम 2 बार जरूर लेना चाहिए | इससे हमारे शरीर को एनर्जी मिलती है और साथ ही यह हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को भी दूर करता है |

thyroid ka desi ilaj adrak aur tea

थाइराइड से बचने का उपाय है अदरक और ग्रीन टी | How to Control Thyroid Naturally in Hindi

thyroid ka desi ilaj है अदरक और ग्रीन टी का इस्तेमाल | हाइपोथाइराइड होने पर हमारे शरीर का वजन बढ़ने लगता है ऐसे में बॉडी को डिटॉक्स करते रहना जरुरी होता है | इसके लिए अदरक, ग्रीन टी  दोनों ही बहुत ज्यादा उपयोगी होते है | अदरक के अंदर ज़िंक, मेग्नेशियम और पोटेशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है |

जिससे हमारा थाइरोइड लेवल कंट्रोल में रहता है और  साथ ही गले में किसी तरह की सूजन हो गयी हो तो उसके बहुत लाभकारी होता है | इसलिए रोजाना अदरक को उबालकर उसका पानी पीना चाहिए | और साथ ही खाने में भी अदरक का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए |

thyroid kam karne ke upay wheet grass juice

थाइरोइड के घरेलू उपचार में व्हीटग्रास जूस और साबुत अनाज का करे उपयोग | Home Remedies for Thyroid in Hindi

व्हीट ग्रास जूस हमारे शरीर के विषैले पदार्थो को बहार निकलकर हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ता है| जो की हमारे वजन को बढ़ने से रोकता है | और ग्रीन टी में पायी  जाने वाली एंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज हमें दिन भर एनर्जी प्रदान करने के साथ साथ हमारे शरीर में जमी हुई चर्बी को भी ख़त्म करती है |

thyroid kam karne ke upay के लिए रोजाना चाय या कॉफी की जगह 2 से 3 कप ग्रीन टी पिए | और हफ्ते में कम से कम 3 बार व्हीटग्रास जूस का सेवन करें | इन सारी चीजों के साथ हमारे शरीर को साबुत अनाज की भी जरुरत होती है | साबुत अनाज के लिए ओट्स का इस्तेमाल सबसे बेहतर होता है |

 ओट मील के अंदर फाइबर, विटामिन और सिरेनियम पाया जाता है | इसके इस्तेमाल से शरीर में चर्बी जमा नहीं होती है | और साथ ही हमारा थाइराइड लेवल भी कंट्रोल में रहता है |

थाइरोइड जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए नारियल के तेल में पकाये खाना | Thyroid Treatment at Home in Hindi

इसके अलावा thyroid ko rokne ke upay में नारियल के तेल का इस्तेमाल भी बहुत लाभकारी होता है | नारियल का तेल मोटापा नहीं बढ़ाता और इससे हमारा मेटाबोलिजम भी इम्प्रूव होता है | इसलिए डॉक्टर्स भी नारियल के तेल को इस्तेमाल करने की सलाह देते है | नारियल के तेल का इस्तेमाल खाना पकाने में या खाने के साथ मिलकर भी किया जा सकता है |

तो दोस्तों इन सारी  चीजों को मिलकर सुबह से लेकर शाम तक एक इफेक्टिव डाइट प्लान बना सकते है | जो की थाइराइड लेवल को इम्प्रूव करने के साथ साथ वजन घटाने में भी आपकी मदद करेगा | इसके अलावा दिन भर में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए | क्युकी पानी पीते रहने से शरीर में जमा टोक्सिन बाहर निकलते रहते है | और भूख कम लगने के साथ साथ वजन कम करने में भी यह फायदा पहुंचाता है |

ये भी पढ़ें : नारियल खाने के फायदे

Exerise for Thyroid in hindi

थाइरोइड से बचने का उपाय है रोजाना एक्सरसाइज | Thyroid Home treatment in Hindi

इनके अलावा thyroid ka gharelu upay करने के लिए रोजाना सुबह वाक करे और कुछ देर एक्सेरसाइज जरूर करें | इससे आपका मेटाबोलिजम मजबूत होता और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी | दवाइयों के साथ रोजाना की जाने वाली एक्सेरसाइज से किसी भी बीमारी को ठीक करने में कम समय लगता है |

साथ ही थाइराइड होने पर आपको मानसिक रूप से मजबूत रहने की जरुरत होती है | दिमाग पर स्ट्रेस ना ले और ऐसी किसी भी स्थिति से बचे जिससे की दिमाग में टेंसन पैदा हो | अगर आपका दिमाग संतुलित और स्वस्थ रहता है,तो जो भी दवाई या नुस्खे का सेवन आप करते है, उसका प्रभाव बहुत तेजी से होता है और कम ही समय में आपकी थाइराइड की प्रॉब्लम पूरी तरह ठीक हो जाती है |

थाइरोइड में परहेज | Precautions for Thyroid in Hindi

यह तो बात हो गयी उन चीजों की जिनका सेवन hypothairaid होने पर करना चाहिए | इसके बाद बात करते है उन चीजों की जिन्ह आप थाइराइड में नहीं खा सकते है |

Thyroid Kam Karne Ke Upay in Hindi 

थाइरोइड में सलीमाधारी सब्जीयों का सेवन कम करें | Thyroid Kam Karne Ke Upay in Hindi

थाइराइड में Cruciferous वेजिटेबल्स यानि की सलीमाधारी सब्जियों का सेवन कम करना चाहिए | इसके अंदर ज्यादातर गोभिबन्द सब्जिया जैसे की फूल गोभी , पत्ता गोभी और ब्रोकली इस तरह की सब्जिया आती है | इन सब्जियों में gotrejan अधिक मात्रा में पाया जाता है जो की हमारे शरीर में आयोडीन की मात्रा को कम  करता है | इसलिए जिन भी लोगो को आयोडीन की कमी के कारन थाइराइड हुआ है वो लोग इन सब्जियों का कम से कम इस्तेमाल करें |

अधिक तला और प्रोसेस्ड फ़ूड का सेवन करें से बचे | Thyroid Ka Gharelu Upchar in Hindi

तला हुआ और चर्बी पैदा करने वाली चीजों के खाने से हमारा मोटापा बढ़ता है | जो की हमारे शरीर में थाइराइड हार्मोन्स को अवशोषित होने से रोकता है | इसके अलावा प्रोसेस्ड फ़ूड यानि की चिप्स बिस्किट या रेडी कुक आइटम जैसे की इंस्टेंट नूडल , सुप और स्नेक्स इस तरह की चीजे ज्यादातर सील पैक  आती है और इन्हे अधिक समय तक चलाने के लिए इनमे प्रेजर्वेटिव डाले जाते है |

जिनकी वजह से इनमे पोषक तत्वों की मात्रा बहुत कम हो जाती है | और हमारे शरीर में तेजी से चर्बी पैदा करने के साथ साथ ब्लड प्रेशर बढ़ने की सम्भावना भी रहती है |

Thyroid Ke Gharelu Nuskhe in Hindi

सोयाबीन और उसके तेल का सेवन बिलकुल ना करें | Thyroid Ke Gharelu Nuskhe in Hindi

सोया हमारे शरीर में थाइराइड की समस्या को बहुत तेजी से बढ़ा सकता है | आज खाने में हम सोयाबीन और उसके तेल का बहुत अधिक इस्तेमाल करने लगे है जो की हमारे शरीर के थाइराइड हार्मोन्स का सबसे बड़ा दुश्मन होता है | विशेषज्ञों का भी यही मानना है की अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति भी लगातार सोयाबीन का सेवन करता है तो उसे भी थाइराइड होने की सम्भावना बहुत अधिक बढ़ जाती है |

आजकल सब्जियों में सोयाबीन के तेल का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है |  इसकी जगह मुगफली, सरसो या नारियल के तेल का इस्तेमाल खाना बनाने के लिए करना चाहिए | इसके अलावा चाइनीज फ़ूड भी कम खाना चाहिए क्युकी इनमे सोया सॉस मिला होता है | साथ ही सोया मिल्क और सोया पनीर के सेवन से भी जितना अधिक हो उतना बचना चाहिए |

थाइराइड में ग्लूटेन का सेवन कम से कम करें | Thyroid Ka Desi Ilaj in Hindi

इसके अलावा थाइराइड के मरीज को ग्लूटेन का सेवन भी कम से कम करना चाहिए | ग्ल्यूटेन ज्यादातर सफ़ेद आटे की बनाई चीजों जैसे की  पाव ब्रेड डबल रोटी और अन्य मैदे और आटे से बनी चीजों में अधिक मात्रा में होता है |

जब भी हम इस तरह की चीजे कहते है तो इसे पचने में बहुत समय लगता है | और यह हमारी छोटी आंतो की तकलीफ पैदा करता है | और साथ ही इसकी वजह से थाइराइड में ली जाने वाली दवाइया  और भोजन के पोषक तत्व हमारे शरीर में पूरी तरह नहीं जा पाते है |

जिसकी वजह से हमारे शरीर में दवाइयों का असर भी कम होता है और पोषक तत्वों की भी कमी हो जाती है | इसलिए इसका सेवन कम से क़म करें |

Thyroid Home Treatment in Hindi

थाइरोइड में जंक फ़ूड का सेवन भूलकर भी ना करें | Thyroid Home Treatment in Hindi

इसके अलावा एक और महत्वपूर्ण चीज है जिसे थाइराइड के मरीजों को बिलकुल नहीं खाना चाहिए | वह है जंक  फ़ूड | जंक फ़ूड को 3 केटेगरी में बांटा जा सकता है | डीप फ़्राईड यानि की तला हुआ खाना | फैटी फ़ूड यानि की मैदायुक्त चर्बी पैदा करने वाला खाना और तीसरा है प्रोसेस्ड फ़ूड यानि की पैकिंग फ़ूड |

थाइरोइड में चीनी का सेवन भी कम से कम करें | Gharelu Nuskhe for Thyroid in Hindi

इसके अलावा चीनी का इस्तेमाल करना भी थाइराइड में बहुत ही हानिकारक होता है | क्युकी थाइराइड की बीमारी में शरीर का मेटाबोलिजम स्लो हो जाता है जिससे हमारे शरीर का वजन तेजी से बढ़ता रहता है | ऐसी सिथिति में चीनी यानि शक्कर का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए |

क्युकी जितनी भी चीजे हम खाते है उनमे शक्कर ही एक ऐसा  पदार्थ है जिसे खाने से हमारे शरीर को किसी भी तरह का फायदा नहीं होता है | क्युकी चीनी की नुट्रिशयन वेल्यू 0 होती है | परन्तु इसका स्वाद मीठा होने की वजह से लोग इसका अधिक सेवन करते है |

लेकिन मीठा खाने से बहुत ज्यादा तेजी से मोटापा बढ़ता है जो की थाइराइड में तेजी से बढ़ रहे वजन को और बढ़ावा देता है | इसलिए चीनी और उससे बनी मीठी चीजों का सेवन बहुत कम करें |

ये भी पढ़ें : हानिकारक चीनी छोड़े, मिठास के लिए आजमाएं ये 5 सेहतमंद चीजें

Thyroid Ke Gharelu Upay in Hindi

थाइरोइड में चाय और कॉफी का सेवन भी नहीं करें | Thyroid Ke Gharelu Upay in Hindi

अगर आप थाइराइड की दवाई लेते है तो कैफीन का सेवन करने से इस दवाई का असर कम हो सकता है | रोजाना पी जाने वाली चाय और कॉफी में कैफीन मात्रा में पाया जाता है और यह चाय और कॉफी के साथ चीनी मिला देने से यह चाय का असर तो कम करती ही है साथ ही मोटापा बढाती है |

इसलिए जिन लोगो को सुबह उठकर या दिन में चाय या कॉफी पीने की आदत है | वो बिना शुगर मिलाये इसका सेवन करें | चाय कॉफी पिने  और दवाई लेने के समय के बिच में क़म से कम 1 घंटे का गैप रखें | दवाई लेने के 1 घंटे पहले और 1 घंटे बाद चाय या कॉफी का सेवन ना करें |

हम उम्मीद करते है थाइरोइड के लक्षण और इलाज से सबंधित आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here