Home स्वास्थ्य घरेलू उपचार वेरिकोस वेन्स की समस्या को ठीक करने के 3 सबसे असरदार नुस्खे

वेरिकोस वेन्स की समस्या को ठीक करने के 3 सबसे असरदार नुस्खे

0
225

वेरिकोस वेन्स सबसे तेजी से बढ़ने वाली बीमारियों में से एक है | पुरुषो के बजाय महिलाएं इस बीमारी से अधिक परेशान रहती है | वेरिकोस वेन्स की  समस्या 90 % हमारे कमर के निचले हिस्से में होती है | हमारा ह्रदय का कार्य हमारे रक्त को धमनियों के द्वारा पुरे शरीर में पहुंचाने का होता है और वापिस यह रक्त हमारे ह्रदय में आता है | लेकिन कई बार  यह रक्त हमारे ह्रदय तक नहीं पहुंच पाता और बीच में ही हमारी नसों में रुक जाता है जहां पर हमारी वेन्स स्वेल होने लगती है | वंहा सूजन आ जाती है और वहां पर दर्द रहने लगता है | इस बीमारी को वेरिकोस वेन्स कहते है |

इन तेलों से दूर होगी वेरिकोस वेन्स की समस्या

सबसे पहले जो नुस्खा हम बनाने जा रहे है , उसके लिए हमें जरुरत होगी जैतून का तेल, निम्बू और सायप्रस आयल या थूजा आयल की | ऐसे बहुत सारे तेल होते है, जो हमारे शरीर की नसों में आयी कमजोरी को दूर करने के लिए बहुत उपयोगी होते है | लेकिन जब भी वेरिकोस वेन्स जैसी गंभीर बीमारी की बात आती है, तो इसके लिए सायप्रस आयल या थूजा ऑइल,  दोनों ही सबसे ज्यादा फायदेमंद होते है | थूजा को मोरपंखी या विद्या के पेड़ के नाम से भी जाना जाता है |

यह इतना असरदार होता है की इस तेल का इस्तेमाल हमारे शरीर से जुडी कई तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है | और खासकर गंजेपन की समस्या में इसके तेल से कमाल के लाभ प्राप्त होते है | इस नुस्खे को बनाने के लिए सबसे पहले 3 से 4 निम्बू के छिलको की ऊपरी परत को निकालकर लगभग 100 ml जैतून के तेल में मिक्स कर ले |

इसके बाद इस तेल को 10 से 15  दिन धुप में रखे | इसको धुप में रखने से निम्बू के छिलके में मौजूद सारे तत्व इस तेल में अच्छे से मिक्स हो जाते है | 10 से 15 दिन हो जाने के बाद इस तेल में लगभग 30 ml सायप्रस यानि की थूजा आयल को मिक्स कर दे | इस तरह से यह नुस्खा तैयार हो जायेगा | इसमें हमने निम्बू के छिलको का इस्तेमाल किया है | निम्बू के छिलको में तेल पाया जाता है | जो की हमारी नसों में आयी कमजोरी को दूर करता है | साथ ही इसके इस्तेमाल से शरीर की नसों में खून का बहाव भी तेज होता है |

मालिश करने का तरीका

सारी चीजों से बने इस तेल से रोजाना रात के समय सूजन वाली जगह 10 से 15 मिनिट हलके हाथो से मालिश करें | मालिश करते वक्त ध्यान रहे की हमे बहुत ज्यादा तेल का इस्तेमाल नहीं करना है | मालिश के बाद उस जगह को किसी सूती कपडे से लपेटकर रात भर के लिए छोड़ दे| लगातार इस तरीके से इस नुस्खे का  इस्तेमाल करने पर नसों में आयी सूजन धीरे धीरे कम होती जाएगी | और कम समय में ही आपको इस समस्या में कमाल का फर्क नजर आएगा | लेकिन किसी भी गंभीर बीमारी को हमेशा के लिए ख़त्म करना होता है, तो बाहर से किये जाने वाले नुस्खों के साथ साथ शरीर को अंदर से मजबूत बनाना भी बहुत जरुरी होता है |

इन 3 चीजों को खाकर दूर होगी वेरिकोस वेन्स की समस्या

वेरिकोस वेन्स की बीमारी में हमारे शरीर की नसे कमजोर हो जाती है | ऐस में वे सभी चीजे हमें ज्यादा से ज्यादा खानी चाहिए जो की शरीर की नसों को अंदरूनी रूप से ताकत प्रदान करें | इसके लिए 3 चीजे इस बीमारी में सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है | काली किशमिश, अलसी यानि की फ्लेक्स सीड्स, और चिया सीड्स का | यह तीनो ही चीजे आपको किसी भी ड्राई फ्रूट्स की दुकान, सुपर मार्किट  या किसी राशन की दुकान पर आसानी से मिल जाएगी | और अगर आप चाहे तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है |

वेरिकोस वेन्स की बीमारी में इन  तीनो ही चीजो का रोजाना अलग अलग समय पर सेवन करने से यह बीमारी तेजी से ठीक होने लगती है | काली किशमिश खरीदते समय ये ध्यान रखे की यह बीज वाली ही होनी चाहिए |  क्यूक इस बीमारी में सबसे ज्यादा फायदा इसके बीजो को खाने से ही होता है| इसलिए बिना बीजो वाली काली किशमिश ना ख़रीदे | इसका सेवन करने के लिए रोजाना रात को 8 से 10 किशमिश पानी में गला कर रख दे | और सुबह खाली पेट इन्हे चबा चबा कर खाये | इनके अंदर एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है| जो की नसों में मौजूद ब्लॉकेज को दूर करती है | इसके अलावा एक चम्मच अलसी का सेवन रोजाना दिन के समय एक घंटे  बाद करें | अलसी के अंदर ओमेगा 3, ओमेगा 6 फैटी एसिड और फाइबर की मात्रा अधिक होती है | जो की हमारे शरीर प्रदान करने के साथ साथ शरीर की नसों को अंदरूनी रूप से मजबूत बनाती है |

चिया सीड्स फायदेमंद है वेरिकोस वेन्स की समस्या में

इसके साथ ही चिया सीड्स का सेवन करने के लिए 1 चम्मच चिया सीड्स को १ कप पानी में 2 से 3 घंटे के लिए गला कर रखे | और उसके बाद रोजाना शाम के समय खाना खाने से पहले लगभग 40  से 50 मिनिट पहले चिया सीड्स का सेवन करें | चिया सीड्स में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है | इसका सेवन शरीर में आयी किसी भी तरह की कमजोरी दूर होती है | और साथ ही नसों में सूजन कम करने और उन्हें मजबूत बनाने के लिए भी यह बहुत अधिक फायदेमंद होती है |

कायेन पेपर से दूर होगी वेरिकोस वेन्स की समस्या

इसके अलावा बड़ी लाल मिर्च और एप्पल साइडर विनेगर  भी वेरिकोस वेन्स की बीमारी में बहुत फायदेमंद होता है | बड़ी लाल मिर्च को कायेन पेपर के नाम से भी जाना जाता है | यह हमारी रोजाना खायी जाने वाली लाल मिर्च से काफी ज्यादा अलग और काफी ज्यादा फायदेमंद भी होती है | शरीर की आंतो में सफाई , दिल से जुडी बीमारिया नसों में खून जमना, माइग्रेन और जोड़ो में दर्द की साथ साथ  पेट साफ़ करने, वजन घटाने और कैंसर जैसी बीमारियों को ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है |

इसके इतने अधिक फायदे होने की वजह से कई तरह की बीमारियों में इसकी कैप्सूल भी खायी जाती है | कायेन पेपर यानि की बड़ी लाल मिर्च का पावडर आपको  किसी भी सुपर मार्किट या ऑनलाइन कम दामों में आसानी से मिल जायेगा | इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले 1 गिलास पानी को गरम कर लो | और थोड़ा सा ठंडा हो जाने के बाद  उसमे 1 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर , आधा चम्मच कायेन पेपर पावडर और 1 चम्मच शहद डालकर सारी चीजों को आपस में अच्छी तरह से मिक्स कर ले | और रोजाना रात के समय खाना खाने के बाद इसका सेवन करें |

एप्पल साइडर विनेगर और जैतून के तेल की मालिश लाभकारी है वेरिकोस वेन्स की समस्या में

एप्पल साइडर विनेगर हमारी नसों में खून का बहाव तेज करता है | और साथ ही इसे पिने के साथ साथ जैतून के तेल के साथ मिलाकर नसों पर मालिश करने से इस बीमारी में ज्यादा आराम मिलता है |  पैरो में वेरिकोस वेन्स की समस्या है तो ऐसे में कम्प्रेसन शॉक्स भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होते है | कम्प्रेसन शॉक्स पहनने से हमारी नसों में बराबर मात्रा में दबाव पड़ता है | जिससे की धीरे धीरे नसों में आयी कमजोरी कम होने लगती है |  लेकिन कम्प्रेसन शॉक्स को पहनते समय एक्सेरसाइज करना जरुरी है | केवल बैठे बैठे इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है |

रोजाना पैरो से जुडी एक्सेरसाइज करना नसों को मजबूत करने और वेरिकोस वेन्स की बीमारी को तेजी से ठीक करने का सबसे ज्यादा बेहतर तरीका है | और केवल यही एक मात्र ऐसा तरीका है | जिसके परिणाम सबसे जल्दी नजर आना शुरू होते है | साइकिल चलना या सुबह मॉर्निंग वाक पर जाना पैरो की नसों को मजबूत करने के लिए आसान एक्सेरसाइज है | सुबह के समय आप पैदल चलते है तो बिच बिच में अपनी एड़ियों को उठाकर कुछ कदम अपने पंजो पर भी चले |

ऐसा करने से खून का बहाव तेज होता है | जो की वेरिकोस वेन्स की बीमारी में ज्यादा जरुरी भी है | और अगर आप कम्प्रेसन शॉक्स पहनकर एक्सेरसाइज करते भी है तो इसका असर आपके पैरो की नसों पर दुगुनी रफ़्तार से होगा | जब भी हमारे शरीर में किसी तरह की बीमारी या कोई कमजोरी होती है तब हर तरह के इलाज या उपाय को करने के साथ साथ हमें अपने खानपान में ध्यान देना भी बहुत जरुरी होता है | क्युकी कई बार हमे पता भी नहीं होता और हमारे द्वारा खायी जाने वाली चीजों में कुछ ऐसी चीजे भी शामिल होती है जिनसे कही ना कहि हमारी बीमारी बढ़ रही होती है |

ये भी पढ़ें : भोजन में शामिल होगी ये चीजे तो कभी नहीं होंगे बीमार

वेरिकोस वेन्स होने पर परहेज करें इन चीजों का

वेरिकोस वेन्स की समस्या में चाय और कॉफी का सेवन बंद कर देना चाहिए |  क्युकी इनके अंदर केफ़िन पाया जाता है जो हमारे वेरिकोस वेन्स की प्रॉब्लम में बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकता है | अगर आप ऐसा खाना खाते है जिन्हे पचने में बहुत दिक्कत आती है तो यह आपकी वेरिकोस वेन्स की समस्या को बढ़ा सकती है | इसलिए मैदा से बनी, ज्यादा तेल और मिर्च मसाले वाले खाने का सेवन कम करे | इस दौरान बाजार में मिलने वाले जंकफूड का सेवन तो बिलकुल ही बंद कर दे |

इन सभी चीजों में फैट अधिक होता है और इन्हे पचाने में हमारे शरीर को अधिक मेहनत करनी पड़ती है साथ ही ये चीजे हमारे शरीर में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट को ख़त्म करते है, जिनसे हमारे शरीर की नसे और ज्यादा कमजोर होती है | इसलिए हमे उन ही चीजों का अधिक सेवन करना चाहिए, जो हमारे शरीर में जल्दी पच सके | अगर आप शराब पिते है, तो थोड़े दिनों के लिए बंद कर दे और साथ ही अधिक मीठा ना खाये | इन सभी बातो का आप अगर ध्यान रखते है तो आपकी वेरिकोस वेन्स की  समस्या तेजी से ठीक होती है |

ये भी पढ़ें : जोड़ो के दर्द का घरेलू उपाय

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

तो फ्रेंड्स अगर आपको मेरा यह वडियो पसंद आया हो तो लाइक करें | अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें | साथ ही और लोगो को भी इसका अधिक से अधिक लाभ मिले इसके लिए इसे  अधिक से अधिक शेयर करें | और अंत में हमारे INDIA HEALTH TV चैनल को सब्स्क्राइब करना ना भूलें, धन्यवाद |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here