दौड़ती भागती जिंदगी और तेजी से बदलते खानपान ने जहां एक और हमें बहुत अधिक व्यस्त कर दिया है | लेकिन साथ ही हमारी जिंदगी से शारीरिक परिश्रम ना के बराबर हो गया है | यही कारन है की आज  डाइबिटीज के मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है | जहां पहले बड़ी उम्र में इस बीमारी के लक्षण देखने को मिलते थे वही अब छोटी उम्र में ही लोग डाइबिटीज के शिकार हो रहे है | यह एक ऐसी बीमारी है जो अगर एक बार हो जाये तो हो सकता है मरीज को पूरी जिंदगी दवाइयां खानी पड़े | लेकिन एक ऐसा इलाज है जिससे आप डाइबिटीज जैसी बीमारी से छुटकारा पा सकते है | आज के लेख yoga for diabetes in hindi में आज हम इस इलाज के बारे में जानेंगे |

योगासन प्राचीन भारतीय पद्धति है | और इससे  बड़ी से बड़ी बीमारी को भी दूर किया जा सकता है | डाइबिटीज को दूर करने के लिए कुछ ऐसे योगासन है जिन्हे अगर आप रोजाना करें तो आपकी डाइबिटीज की समस्या तो दूर होती ही है | साथ ही और बीमारिया भी दूर हो जाती है | तो आइये जाने है उन योगासन के बारे में जो की डाइबिटीज की समस्या में बेहद फायदेमंद है |

शुगर का इलाज में लाभकारी है वज्रासन | Vajrasan for Diabites in Hindi

वज्रासन योगासन डाइबिटीज के मरीजों के लिए बेहद लाभकारी है और डाइबिटीज रोगियों को रोजाना वज्रासन  करना चाहिए | इसके लिए सबसे पहले साफ़ स्थान पर दरी या चद्दर बिछा कर अपने पैरो पर बैठ जाये | अब अपनी दायी हथेली को अपनी नाभि पर रखे और अपनी बायीं हथेली को दायी हथेली पर रखे | अब धीरे धीरे सांस बाहर निकालते हुए आगे की और झुके और अपनी थोड़ी को जमीन से लगा दें | अब थोड़ी देर के लिए इस स्थिति में रहे | फिर वापिस साँस भरते हुए वापिस ऊपर की और  आये | इस प्रक्रिया को आपको 4 से 5 बार करना है |

मधुमेह के उपचार है सर्वांगासन | Sarvangasan for Diabites in Hindi

अगर आपको डाइबिटीज के लक्षण दिखाई दे तो आपको सर्वांगासन करना चाहिए | सर्वांगासन आसन डाइबिटीज के लिए तो फायदेमंद है ही साथ ही अन्य बीमारियों में भी बेहद लाभकारी है | इस आसन में सभी अंगो का आसन हो जाता है इसलिए इसे सर्वांगासन कहते है | इस आसन  को करने के लिए सबसे पहले एक साफ़ स्थान पर दरी या चद्दर बिछा ले | अब पीठ के बल सीधे लेट जाये | अब धीरे धीरे अपने दोनों पांवो को ऊपर की और उठाये | फिर हाथ का सहारा देकर अपने कूल्हों और कमर को भी ऊपर की और उठाये | अब अपने हाथो को पीठ पर सहारा दे | और अपने पुरे शरीर को लम्बवत ऊपर की और कर लें |

इस अवस्था में आपके कंधे , सर और कोहनी तक हाथ जमीन को छूते रहेंगे बाकि आपका पूरा शरीर सीधा खड़ा हो जायेगा | थोड़ी देर तक इस अवस्था में रहने के बाद अब अपने पांवो और बाकि शरीर को धीरे धीरे निचे की और लायें | और बिलकुल लेट जाये | थोड़ी देर आराम करने के बाद आप वापिस इस क्रिया को दोहरा सकते है |

डायबिटीज का इलाज में लाभकारी है धनुरासन | Dhanurasan for Diabities in Hindi

डाइबिटीज की बीमारी दूर करने में धनुरासन एक बहुत ही फायदेमंद आसन है| साथ ही यह योगासन पेट की चर्बी को कम करने में भी बेहद फायदेमंद होता है | इस आसान को करने के लिए  साफ़ और समतल स्थान पर चादर या दरी बिछाएं | इसके बाद इस पर पेट के बल लेट जायें | अब लेटे लेटे अपने दोनों पैरो को घुटनो से मोड़ ले और हाथों से अपने पैरो के पंजो को पकड़ लें | अब पांवो और हाथों को विपरीत दिशा में खींचे और पेट के अलावा बाकि पुरे शरीर को हवा में उठा लें | इस स्थिति में आपका पेट ही जमीन को स्पर्श करेगा और  बाकी पूरा शरीर जमीन हवा में होगा | थोड़ी देर तक इस स्थिति में रहने के बाद धीरे धीरे अपने शरीर को ढीला छोड़ें | और सामान्य स्थिति में आ जाएँ |

dhanurasan-diabetes-treatment-in-hindi

इसे सर्वश्रेष्ठ  योगासन माना जाता है इसमें पुरे शरीर का व्यायाम होता है | यह डाइबिटीज , पेट की चर्बी, उच्च रक्तचाप , त्वचा , मांसपेशियों और जोड़ो के दर्द  और मासिक धर्म की समस्या में बेहद लाभदायक होता है |

डायबिटीज का इलाज है सूर्य नमस्कार | Sury Namaskar Diabities in Hindi

सूर्य नमस्कार कई आसनों का मिला जुला एक रूप है | सूर्य नमस्कार में 10 मुद्राये बनती है जिससे की शरीर के हर हिस्से का व्यायाम हो जाता है |

सूर्य नमस्कार करने की विधि

  1. सबसे पहले हाथ जोड़कर सीधे खड़े हो जाये, पैर के पंजे मिला लें |
  2. अब श्वास खींचते हुए दोनों हाथो को बिलकुल ऊपर की और ले जाये , दोनों हथेलिया एक दूसरे की और देखते हुए |
  3. अब धीरे धीरे स्वांस छोड़ते हुए  शरीर को कमर से झुकाते हुए अपने हाथों को पांव के पंजो के बगल में रखने की कोशिश करें, और अपने सर को अपने घुटनो पर लगाए |
  4. अब वापिस स्वास खींचते हुए अपने एक पांव को जितना हो सके पीछे की और लेकर जाये, बाकि दोनों हथेलिया और एक पांव का पंजा एक सीध में रहे | आपका सीना आपके  घुटनों को छुएगा और दृस्टि बिलकुल सामने |
  5. अब स्वांस छोड़ते हुए अपने दूसरे पांव को भी पीछे लेकर जाये |
  6. अब अपने सर, सीने और घुटनों को जमीन पर टिकायें |
  7. अब वापिस स्वांस खींचते हुए अपने पुरे शरीर को ऊपर उठा ले , केवल पांव के पंजे और हथेलिया ही जमीं पर टिकी रहे |
  8. अब स्वांस छोड़ते हुए अपने एक पांव को वापिस आगे की और लाते हुए दोनों हथेलियों के पास रख लें |
  9. अब स्वास लेते हुए दूसरे पांव को भी पहले पांव के पास ले आये | इस  अवस्था में आप कमर से झुके होंगे और आपका सर आपके घुटनों से लगा होगा |
  10. अब स्वास धीरे धीरे छोड़ते हुए सीधे खड़े हो जाये और हाथ नमस्कार की मुद्रा में लाये |

यह पूरी सूर्य नमस्कार की स्थिति है | शुरुआत में 3 सूर्य नमस्कार से शुरुआत करें | और धीरे धीरे इनकी संख्या बढ़ा दें |


डायबिटीज का इलाज है प्राणायाम | Pranayam for Diabities in Hindi

प्राणायाम कई प्रकार का होता है | और डाइबिटीज में प्राणायाम के फायदे बहुत अधिक होते है | नियमित प्राणायाम करने से आपकी डाइबिटीज हमेशा के लिए ठीक हो सकती है | डाइबिटीज के लिए भस्त्रिका और भ्रामरी प्राणायाम सबसे अधिक फायदेमंद होता है | इस आसन को करने के लिए पद्मासन की अवस्था में बैठ जाये | और गहरी स्वांस लें | अब  पेट को अंदर खींचते हुए छोटी छोटी लेकिन तेज आवाज में स्वाँस छोड़े | इससे आपकी डाइबिटीज की समस्या तो दूर होती ही है साथ ही पेट की चर्बी भी कम कम होती है | भस्त्रिका करने से शरीर में ऑक्सीजन बढ़ती है और कार्बनडाई ऑक्साइड कम होती है |

हम उम्मीद करते है की Yoga for Diabetes in Hindi में दी गयी यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here