Home स्वास्थ्य योगासन, प्राणायाम और व्यायाम पेट में गैस की समस्या को दूर करने के लिए लाभकारी योगासन...

पेट में गैस की समस्या को दूर करने के लिए लाभकारी योगासन | Yogasan for Acidity in Hindi

0
154
yogasan-for-acidity-in-hindi

समय बदलने के साथ साथ हमारे खान पान में भी बदलाव आया है | आज का हमारा लेख Yogasan for acidity in Hindi में उन योगासन के बारे में जान पाएंगे जिनसे आपकी गैस की समस्या पूरी तरह दूर हो सकती है | जहा पहले लोग घर में बना पोस्टिक भोजन करते थे वही अब लोग जंक फ़ूड खाना अधिक पसंद करते है | और यह खाना हमें बना देता है बीमार | शरीर में होने वाली अधिकतर बीमारियों की शुरुआत पेट से होती है |

गलत खानपान से और बिना मेहनत की जीवनशैली से पेट में गया अन्न सही तरह पच नहीं पाता है | ऐसे में पेट में गैस, एसिडिटी और पेट में सूजन आ जाती है | और पेट में बनी गैस आपको बेचैन कर देती है , ऐसे में लोग कई तरह की दवाई भी लेते है लेकिन कई बार उनका खास फायदा नहीं हो पाता  है | लेकिन योगासन के द्वारा आप अपने पेट में बनी गैस और सूजन को कम कर सकते है | तो आइये जानते है उन योगासन के बारे में जिससे पेट की गैस और सूजन पूरी तरह दूर होती है और आपको आराम मिलता है |

गैस की समस्या से छुटकारा दिलाएगा बालासन | Balasan for Acidity in Hindi

बालासन का मतलब होता है बाल यानि की बच्चे की  तरह किया जाने वाला आसन | इस आसन में शरीर को आराम मिलता है और पेट की गैस ( balasan for acidity in Hindi) और सूजन कम होती है | इस आसन को करने के लिए सबसे पहले तो वज्रासन की स्थिति में बैठ जायें | अब स्वांस खींचते हुए अपने दोनों हाथो को सीधा ऊपर की और उठा लें | अब हथेलिओ को सामने की और कर लें | अब धीरे धीरे स्वांस छोड़ते हुए  कमर से झुकते हुए अपनी दोनों हथेलियों को जमीन पर टिका लें | अब अपने सर को भी जमीन से सटा लें | अब पुरे शरीर को ढीला छोड़ दे | अब इस स्थिति में लेटे लेटे गहरी स्वांस लें और छोडे | बालासन करने से आपके पेट की समस्या तो दूर होती ही है | साथ ही यह आपके तनाव और अवसाद को दूर करता है | और कमर, पीठ और गर्दन का दर्द भी दूर होता है |

ये भी पढ़ें : पेट की चर्बी कम करने के योगासन

गैस का दर्द दूर होगा हलासन से | Halasan for Acidity in Hindi

हलासन जहां आपके पेट की गैस ( halasan for acidity in Hindi) और सूजन को कम  करता है, साथ ही इसके नियमित अभ्यास से आपके पेट की चर्बी भी कम होती है और आपका शरीर लचीला बनता है | इस आसन को करने के लिए सबसे पहले दरी या चद्दर बिछाकर पीठ के बल सीधे लेट जाये | अब धीरे धीरे अपने दोनों पांवो को उठाते हुए अपने सर के ऊपर से ले जाकर सर से आगे की और जमीन पर टिका दें | अब आपका सर कंधे दोनों हाथ और पांव के पंजे टिके रहेंगे| क्युकी इसमें आपके शरीर की स्थिति खेत जोतने के हल की तरह हो जाती है, इसलिए इसे हलासन कहते है|

एसिडिटी का घरेलू उपचार है धनुरासन | Dhanurasan for Acidity in Hindi

पेट की कब्ज और गैस दूर करने के लिए धनुरासन ( dhanurasan for acidity in hindi ) एक वरदान की तरह है | इस आसन को करने से कब्ज दूर होने के साथ ही पीठ दर्द, पेट की सूजन और मासिक धर्म की समस्याओं में भी आराम मिलता है | धनुरासन करने के लिए समतल जगह पर दरी या चद्दर बिछा लें | अब पेट के बल इस पर लेट जायें | अब अपने पैरो को घुटनो से मोड़ लें और अपने दोनों हाथो से अपने दोनों पैरो के पंजो को पकड़ लें | अब हाथ और पांव को विपरीत दिशा में खींचे | इस स्थिति में आपका सारा शरीर हवा में होगा केवल आपका पेट ही जमीन को स्पर्श करेगा | थोड़ी देर इस अवस्था में रहने के बाद अब शरीर को ढीला छोड़ दें और पैर के पणजो  को छोड़कर सामान्य अवस्था में आ जायें |

ये भी पढ़े : बवासीर का इलाज इन योगासन से

गैस की समस्या से छुटकारा दिलाएगी तितली मुद्रा | Titli Mudra for Acidity in Hindi

पेट की कब्ज दूर करने के लिए तितली आसन ( titli mudra for acidity in Hindi ) भी बहुत अधिक  फायदेमंद है | इसके लिए सबसे पहले पैर सामने की और फैलाकर बैठ जायें | अब दोनों पांवो के तलवों को आपस में मिला लें | अब अपने दोनों हाथो की अंगुलियों को आपस में मिलकर दोनों पांव के पंजो को पकड़ लें | अब दोनों पांव की एड़ी को अपने शरीर के बिलकुल मूल भाग के पास ले आये | अब जिस तरह तितली अपने पंख फड़फड़ाती है उसी तरह अपने पांवों को निचे ऊपर करें | इससे आपके पेट का व्यायाम होता है और पेट की सूजन में आराम मिलता है मिलता है और पेट की गैस दूर होती है |

गैस की समस्या से छुटकारा दिलाएगा पवन मुक्तासन | Muktasan for Gais in Hindi

जैसा की इस आसन के नाम से ही पता चलता है, यह पेट की गैस दूर करने के लिए सबसे उपयोगी आसन है | यह पाचन शक्ति बढ़ाने और गैस की समस्या से छुटकारा पाने में लाभकारी योगासन है | साथ ही पेट में कब्ज को पूरी तरह दूर करता है | इस आसन को करने के लिए किसी साफ़ स्थान पर दरी या चद्दर बिछाकर सीधे पीठ के बल लेट जाएँ | अब अपने पांवो को मोड़कर अपने घुटनो को अपने सीने तक लेकर आये | और अपने दोनों हाथो से अपने दोनों पांवो को लपेट ले| अब अपने पीठ के सहारे आगे पीछे हो | कुछ देर तक इस आसन को करने के बाद सामान्य अवस्था में आ जाएँ | रोजाना इस आसन को करने से आपके पेट की गैस और एसिडिटी  की समस्या पूरी तरह दूर होगी |

ये भी पढ़ें : सूर्यनमस्कार के फायदे, लाभ और विधि

हम उम्मीद करते है की Yogasan for Acidity in Hindi से सबंधित आज की यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध होगी | आगे भी हम सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी  जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इस लाइक और शेयर करें | अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here